चंपावत उपचुनाव की तैयारियों में जुटी BJP, पार्टी ने इनको सौंपी बड़ी जिम्मेदारी

  1. Home
  2. Dehradun

चंपावत उपचुनाव की तैयारियों में जुटी BJP, पार्टी ने इनको सौंपी बड़ी जिम्मेदारी

bjp

मुख्यमंत्री धामी उपचुनाव चंपावत विधानसभा सीट से ही लड़ेंगे इस जवाब बीते गुरुवार को ही मिल चुका है जब चंपावत से विधायक कैलाश चंद्र गहतोड़ी ने विधायकी से इस्तीफा दे दिया। दरअसल धामी खटीमा विधानसभा से चुनाव हार गए थे, इसके बाद भी बीजेपी ने धामी को मुख्यमंत्री की कुर्सी सौंपी। अब धामी सीएम बन गए हैं तो उन्हें विधानसभा का सदस्य होना जरुरी है, वो भी अगले 6 महीने के अंदर।




देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट)
मुख्यमंत्री धामी उपचुनाव चंपावत विधानसभा सीट से ही लड़ेंगे इस जवाब बीते गुरुवार को ही मिल चुका है जब चंपावत से विधायक कैलाश चंद्र गहतोड़ी ने विधायकी से इस्तीफा दे दिया। दरअसल धामी खटीमा विधानसभा से चुनाव हार गए थे, इसके बाद भी बीजेपी ने धामी को मुख्यमंत्री की कुर्सी सौंपी। अब धामी सीएम बन गए हैं तो उन्हें विधानसभा का सदस्य होना जरुरी है, वो भी अगले 6 महीने के अंदर।

अब भाजपा ने चंपावत सीट पर उपचुनाव लड़ने की तैयारियां शुरू कर दी है। इस संबंध में भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री (संगठन) बीएल संतोष, उत्तराखंड मामलों के प्रभारी दुष्यंत गौतम, प्रदेश सहप्रभारी रेखा वर्मा और मुख्यमंत्री समेत अन्य प्रमुख नेताओं के साथ प्रदेश पार्टी अध्यक्ष मदन कौशिक ने एक बैठक की। इस बैठक के बाद कौशिक ने बताया कि धामी को चंपावत से बड़े अंतर से जिताने के लिए रूपरेखा तैयार कर ली गयी है।

भाजपा प्रदेश अध्‍यक्ष ने बताया कि चंपावत उपचुनाव के लिए पार्टी ने प्रदेश सहप्रभारी रेखा वर्मा की अध्यक्षता में एक टीम गठित की गई है, जिसके संयोजक धामी के लिए सीट छोड़ने वाले पूर्व विधायक कैलाश गहतोड़ी होंगे। कौशिक ने कहा कि इसके अलावा, प्रदेश महामंत्री (संगठन) अजेय, कैबिनेट मंत्री चंदन रामदास, वरिष्ठ नेता कैलाश शर्मा और पार्टी के महिला मोर्चा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष दीप्ति रावत भी टीम का हिस्सा होंगी।

कौशिक ने बताया कि शनिवार से शुरू बीएल संतोष के दो दिवसीय दौरे के दौरान प्रदेश पार्टी संगठन की विभिन्न प्रकार की बैठकें हुईं, जिनमें प्रमुख रूप से मुख्यमंत्री और अन्य मंत्रियों के साथ चुनाव घोषणापत्र पर काम शुरू करने पर चर्चा शामिल है। इसके अलावा उन्होंने बताया कि प्रदेश की उन 23 सीट की भी समीक्षा की गयी जिन पर भाजपा को फरवरी में विधानसभा चुनावों में हार का सामना करना पड़ा था। भाजपा को प्रदेश की 70 में से 47 सीट पर जीत हासिल हुई थी।

कौशिक ने कहा कि इन 23 विधानसभा क्षेत्रों की अलग से समीक्षा की गयी, जो कई घंटे चली। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि पिछले एक माह में सरकार द्वारा किए गए अच्छे कामों के बारे में लोगों को बतााने के लिए मई में 15 दिनों का जनसंपर्क अभियान शुरू करने का निर्णय लिया गया है।