हरीश रावत की चाहत, उत्तराखंड में बने पूर्व मुख्यमंत्रियों का क्लब, वजह भी बताई

  1. Home
  2. Dehradun

हरीश रावत की चाहत, उत्तराखंड में बने पूर्व मुख्यमंत्रियों का क्लब, वजह भी बताई

Harish

पूर्व सीएम अपनी हार का जिक्र करते हुए कहते हैं कि मेरा हश्र देखने के बाद शायद ही कोई मुख्यमंत्री रहा व्यक्ति फिर से चुनाव लड़ने की हिम्मत करेगा! तो कैसे राज्य के पास उपलब्ध इन अनुभवों का उपयोग किया जा सके, यह एक बड़ा सवाल है।


 

देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट) उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत चाहते हैं कि राज्य के पूर्व मुख्यमंत्रियों का एक क्लब बनाया जाए, जिसमें सभी पूर्व मुख्यमंत्री प्रदेश की समस्याओं, चुनौतियों पर चर्चा कर अपने सुझाव रखें।

हरीश रावत इस संबंध में अपने फेसबुक पेज पर लिखते हैं राज्य में पूर्व मुख्यमंत्री बढ़ते जा रहे हैं। ये तो पुष्कर सिंह धामी हमारे क्लब में आते-आते बचे। भाजपा ने साहस पूर्ण निर्णय लिया।

हरदा ने आगे कहा- विधानसभा का चुनाव जो समझदार हैं वो लड़ नहीं रहे हैं, जो हम जैसे लोग हैं वो लड़ रहे हैं तो हार जा रहे हैं। राज्य हम पर खर्च भी कर रहा है‌। राज्य ने जो अनुभव हमको दिया, उस अनुभव का कुछ प्रभावी प्रतिदान देने की स्थिति में अपने को नहीं बना पा रहे हैं।

पूर्व सीएम अपनी हार का जिक्र करते हुए कहते हैं कि मेरा हश्र देखने के बाद शायद ही कोई मुख्यमंत्री रहा व्यक्ति फिर से चुनाव लड़ने की हिम्मत करेगा! तो कैसे राज्य के पास उपलब्ध इन अनुभवों का उपयोग किया जा सके, यह एक बड़ा सवाल है।

हरीश रावत ने आगे कहा- मैं अपने कुछ एक्स साथियों से बात करूंगा, क्यों नहीं हम लोग एक अनौपचारिक एक्स चीफ मिनिस्टर क्लब जैसा बना लें, जिसमें हर महीने कहीं बैठकर के राज्य के सामने जो समसामयिक चुनौतियां हैं, उस पर आपस में बातचीत करें और कोई सुझाव हमारा निकल आए तो उस सुझाव को सार्वजनिक करें।

हरदा आखिर में अपनी बात खत्म करते हुए कहते हैं- देखते हैं, सारे एक्स तो भाजपा के पास हैं तो यदि वो हिम्मत करें, तो मैं इस प्रस्ताव को सार्वजनिक भी कर रहा हूं और व्यक्तिगत तौर पर भी उनसे बातचीत करके प्रस्ताव को विधिवत रखूंगा।