प्रदेश अध्यक्ष को गार्ड ऑफ ऑनर देने पर विवाद, कांग्रेस ने भाजपा पर लगाया ये आरोप

सोमवार को भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक को हेलीकॉप्टर से बागेश्वर पहुंचने पर पुलिस द्वारा गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। प्रोटोकॉल के नियमों के असार किसी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष को गार्ड ऑफ ऑनर नहीं दिया जाता है।
 
प्रदेश अध्यक्ष को गार्ड ऑफ ऑनर देने पर विवाद, कांग्रेस ने भाजपा पर लगाया ये आरोप

देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट) सोमवार को भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक को हेलीकॉप्टर से बागेश्वर पहुंचने पर पुलिस द्वारा गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। प्रोटोकॉल के नियमों के असार किसी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष को गार्ड ऑफ ऑनर नहीं दिया जाता है।

इतना ही नहीं मदन कौशिक सरकारी हैलिकॉप्टर से बागेश्वर पहुंचे। नियमानुसार मदन कौशिक सरकारी हेलिकॉप्टर का इस्तेमाल नहीं कर सकते हैं। बावजूद उनको सरकार हेलीकॉप्टर भी दिया गया और पुलिस अधिकारियों ने गार्ड ऑफ़ ऑनर भी दिया।

मामला सामने आने के बाद प्रदेश में सियासत तेज हो गई है। कांग्रेस नेताओं ने कहा कि भाजपा सरकारी संपत्ति का पार्टी की संपत्तियों की तरह इस्तेमाल कर रही है। प्रकरण की उच्च स्तरीय जांच होनी चाहिए। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष से हेलीकॉप्टर का किराया वसूला जाना चाहिए। हेलीकॉप्टर उपलब्ध कराने वाली सरकार के खिलाफ भी कार्रवाई होनी चाहिए। 

कांग्रेस प्रदेश प्रवक्ता गरिमा महरा दसौनी ने भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक की आलोचना की है। दसौनी ने कहा कि बागेश्वर दौरे में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक को संविधान एवं नियमों का उल्लंघन करते हुए देखा गया है। कौशिक बागेश्वर न सिर्फ सरकारी हेलीकॉप्टर से पहुंचे बल्कि वहां पुलिस प्रशासन ने उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर भी दिया। कौशिक पूर्व में शासकीय प्रवक्ता रहने के साथ-साथ मंत्री के पद पर भी रहे हैं। दसौनी ने सरकार से इस पूरे प्रकरण की जांच का आग्रह किया और कौशिक को यह सभी सुविधाएं उपलब्ध कराने वाले अधिकारियों पर कार्रवाई की मांग की है।

From around the web