उत्तराखंड में कोविड के मामलों में आ रही कमी, स्वास्थ्य सेवाओं में तेजी से हो रहा सुधार: तीरथ

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कहा कि उत्तराखण्ड में पिछले एक सप्ताह से कोविड के मामलों में तेजी से कमी आई है। ग्रामीण क्षेत्रों तक व्यापक स्तर पर कोविड टेस्ट कराये जा रहे हैं। राज्य में स्वास्थ्य सेवाओं में तेजी से सुधार हुआ है।
 
Tirath

देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट) भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कोविड-19 के दौरान केन्द्र सरकार द्वारा कि ये गये कार्यों एवं राज्यों में कोविड की स्थिति के बारे में सांसदों से वर्चुअल संवाद किया।

उन्होंने कहा कि कोविड काल में जनता को उचित इलाज एवं अन्य आवश्यकताओं का ध्यान रखना हम सबकी जिम्मेदारी है। कोविड पर प्रभावी नियंत्रण के लिए देश केदूर-दराज के क्षेत्रों एवं गांवों तक टेस्टिंग एवं स्वास्थ्य सुविधाओं को बढ़ाना होगा।   

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कहा कि उत्तराखण्ड में पिछले एक सप्ताह से कोविड के मामलों में तेजी से कमी आई है। ग्रामीण क्षेत्रों तक व्यापक स्तर पर कोविड टेस्ट कराये जा रहे हैं। राज्य में स्वास्थ्य सेवाओं में तेजी से सुधार हुआ है। वर्तमान में राज्य में 183 मीट्रिक टन ऑक्सीजन उपलब्ध है। अभी राज्य में 6110 ऑक्सीजन बैड, 10300 ऑक्सीजन सिलेण्डर, 6110 ऑक्सीजन सपोर्टेड बैड, 1553 आईसीयू, 983 वेंटिलेटर, 2293 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर, 459 एम्बुलेंस तथा 30 हजार 568 आईसोलेशन बैड उपलब्ध हैं।

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कहा कि मई माह में उत्तराखण्ड में प्रति लाख पर सैंपलिंग दर 40 हजार तक भी गई है। अन्य राज्यों की तुलना ने उत्तराखण्ड का कोविड सैंपलिंग रेट बहुत अधिक है। कोविड टैस्टिंग के लिए राज्य में 10 सरकारी एवं 26 प्राइवेट लैब हैं।

From around the web