उत्तराखंड | मंत्रिमंडल में बदलाव के बाद विभाग में भी होगा बदलाव ? समझिए गणित

उत्‍तराखंड में तीरथ स‍िंह रावत के कैब‍िनेट का व‍िस्‍तार हो गया है। बुधवार को बंशीधर भगत, सतपाल महाराज, हरक सिंह, बिशन सिंह चुफाल, गणेश जोशी, अरविंद पांडेय, हरक सिंह रावत, सुबोध उनियाल, धन सिंह रावत, रेखा आर्या, यतीश्वरानंद ने राजभवन में पद एवं गोपनियता की शपथ ली है।

 
उत्तराखंड | मंत्रिमंडल में बदलाव के बाद विभाग में भी होगा बदलाव ? समझिए गणित

देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट) उत्‍तराखंड में तीरथ स‍िंह रावत के कैब‍िनेट का व‍िस्‍तार हो गया है। बुधवार को बंशीधर भगत, सतपाल महाराज, हरक सिंह, बिशन सिंह चुफाल, गणेश जोशी, अरविंद पांडेय, हरक सिंह रावत, सुबोध उनियाल, धन सिंह रावत, रेखा आर्या, यतीश्वरानंद ने राजभवन में पद एवं गोपनियता की शपथ ली है।

तीरथ मंत्रिमंडल में बड़ा बदलाव देखने को ये मिला कि मदन कौशिक कि कैबिनेट से छुट्टी हो गयी, पार्टी ने उन्हें प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेदारी सौंपी। इसके अलावा बंशीधर भगत से प्रदेश अधयक्ष की जिम्मेदारी वापस लेकर पार्टी ने उन्हें कैबिनेट में जगह दी है।

कुल 4 नए विधायक मुख्य़मंत्री तीरथ के मंत्रिमंडल में शामिल हुए, बांकि 7 चेहरे त्रिवेंद्र सरकार में भी मंत्री रहे थे। अब बड़ा सवाल यह है कि मंत्रिमंडल में बदलाव के बाद क्या मंत्रियों के विभागों में फेरबदल होगा?

एक बार फिर से चर्चा का बाजार गर्म है। कहा जा रहा है कि त्रिवेंद्र सरकार में मंत्री मदन कौशिक के विभाग बंशीधर भगत को भी दिए जा सकते हैं। त्रिवेंद्र सरकार के कार्यकाल में मदन कौशिक के पास शहरी विकास, आवास विभाग था। संसदीय कार्यमंत्री का जिम्मा भी मदन कौशिक के पास था। कुंभ जैसे महत्वपूर्ण मौके को देखते हुए किसी वरिष्ठ मंत्री को ही यह विभाग मिलने की संभावना है।

6 बार के विधायक रह चुके बंशीधर भगत पूर्व में परिवहन और वन विभाग को संभाल भी चुके है। उन्हें भी बेहतर पोर्टफोलियो मिलने की उम्मीद है।

माना ये भी जा रहा है कि खुद मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के पास सीमित विभाग रहने का अनुमान है। भाजपा की एक चुनौती अब नया संसदीय कार्य मंत्री खोजने की भी है।

हरक सिंह वन और चिकित्सा शिक्षा मंत्री थे। उनके पास श्रम विभाग की भी जिम्मेदारी थी। इसी तरह सतपाल महाराज पर्यटन, सिंचाई जैसे महत्वपूर्ण महकमों की जिम्मेदारी संभाल रहे थे। सुबोध के पास कृषि महत्वपूर्ण विभाग था। अब देखना होगा क्या इन्हें एक बार फिर से यही विभाग मिलेगा या कुछ बदलाव होगा।

स्वास्थ्य विभाग किसे मिलेगा ?

त्रिवेंद्र सिंह रावत के कार्यकाल में स्वास्थ्य और आपदा समेत 40 से अधिक विभाग मुख्यमंत्री के पास ही थे। ये भी सवाल है कि तीरथ मंत्रिमंडल में स्वास्थ्य विभाग किसी मंत्री को मिलेगा या CM तीरथ खुद इस विभाग को संभालेंगे।

From around the web