मुख्यमंत्री की कुर्सी गई तो त्रिवेंद्र के खिलाफ बोले 'अपने', इस नेता ने कहा गैरसैंण पर राय नही ली

पूर्व सीएम त्रिवेंद्र रावत द्वारा गैरसैंण बजट सत्र के दौरान गैरसैंण को कमिश्नरी घोषित करने के बाद से प्रदेशभर में इस फैसले पर लोगों ने गुस्सा जाहिर किया था। खासकर उन जिले के लोग इस फैसले से खफा है जिन्हें तीसरे मंडल में शामिल किया गया।
 
मुख्यमंत्री की कुर्सी गई तो त्रिवेंद्र के खिलाफ बोले 'अपने', इस नेता ने कहा गैरसैंण पर राय नही ली

देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट) पूर्व सीएम त्रिवेंद्र रावत द्वारा गैरसैंण बजट सत्र के दौरान गैरसैंण को कमिश्नरी घोषित करने के बाद से प्रदेशभर में इस फैसले पर लोगों ने गुस्सा जाहिर किया था। खासकर उन जिले के लोग इस फैसले से खफा है जिन्हें तीसरे मंडल में शामिल किया गया।

माना जा रहा है कि इसी फैसले को लेकर नाराजगी के चलती ही पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को मुख्यमंत्री की कुर्सी से गंवानी पड़ी। सिर्फ जनता ही पार्टी के नेता भी त्रिवेंद्र सिंह रावत के इस फैसले से खुश नही है।

अब मुख्यमंत्री बदलने के साथ ही त्रिवेंद्र के अपने ही उनके इस फैसले के खिलाफ बोल रहे है। सांसद अजय भट्ट भी इस पर आपत्ति जता जुके है, हालांकि स्पष्ट शब्दों में उन्होंने कुछ भी नहीं कहा है। अब इस पर हरक सिंह रावत का बयान सामने आ रहा है। मंत्री हरक सिंह ने पूर्व सीएम त्रिवेंद्र रावत के इस फैसले का विरोध किया। हरक सिंह रावत ने कहा कि पूर्व सीएम त्रिवेंद्र रावत ने किसी की राय लिए बिना गैरसैंण को कमिश्नरी घोषित किया।

उन्होंने कहा कि गैरसैंण को जिला बना दिया जाए, मंडल नहीं। हरक सिंह रावत ने साफ कहा कि तत्कालीन सीएम ने किसी की भी राय नहीं ली। वहीं सीएम बदलने के बाद पूर्व सीएम त्रिवेंद्र रावत के फैसले पर विरोध सामने आने लगा है।

From around the web