कोरोना ने उड़ाई सरकार की नींद, मुख्यमंत्री बोले- लॉकडाउन के अलावा कोई दूसरा विकल्प नहीं 

सीएम ने कहा कि यदि लॉकडाउन लगा तो महीने भर में कोरोना नियंत्रित हो जाएगा। 15 से 20 अप्रैल के बीच स्थिति बहुत खराब हो सकती है। लॉकडाउन के अलावा कोई दूसरा विकल्प नहीं है। कोरोना की चेन तोड़ना जरूरी है। टीका लगाने के बाद भी लोग संक्रमित हो रहे हैं।
 
कोरोना ने उड़ाई सरकार की नींद, मुख्यमंत्री बोले- लॉकडाउन के अलावा कोई दूसरा विकल्प नहीं

मुंबई (उत्तराखंड पोस्ट) महाराष्ट्र में कोरोना की रफ्तार सबसे तेज है। देश मे सबसे ज्यादा कोरोना के मामले महाराष्ट्र में ही सामने आ रहे हैं। शनिवार को मुंबई में हुई एक अहम बैठक में सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा कि सभी को ​मिलकर फैसला लेना होगा।

सीएम ने कहा कि यदि लॉकडाउन लगा तो महीने भर में कोरोना नियंत्रित हो जाएगा। 15 से 20 अप्रैल के बीच स्थिति बहुत खराब हो सकती है। लॉकडाउन के अलावा कोई दूसरा विकल्प नहीं है। कोरोना की चेन तोड़ना जरूरी है। टीका लगाने के बाद भी लोग संक्रमित हो रहे हैं।

बैठक के बाद सीएम उद्धव ठाकरे ने 1 हफ्ते का संपूर्ण लॉकडाउन का संकेत दिया। एक सप्ताह बाद कुछ रियायतें दी जाएंगी। सीएम उद्धव ने कहा कि बैठक में बेहद ही अच्छे सुझाव आए। उन्होंने कहा कि लोगों को कुछ दिक्कतें आएंगी। कोरोना केस तेजी से बढ़ रहे हैं। कुछ निर्णय लेने होंगे। अगर सभी रास्तों पर उतर आए, तो कोरोना की रफ्तार पर रोक कैसे लगेगी। उन्होने कहा कि दो-तीन दिन में फिर समीक्षा करेंगे।

वहीं बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि पाबंदियां होनी चाहिए, लेकिन जनता के गुस्से पर भी ध्यान दें। हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर खड़ा किया जाए। बेड्स मुहैय्या कराया जाएं। उन्होंने कहा कि पिछला साल बर्बाद हो गया, इसके बाद भी लोगों से बिजली का बिल भरने के लिए कहा गया। पाबंदियां कुछ ही होनी चाहिए, लोग जियेंगे कैसे। राज्य पर कर्ज का बोझ बढ़ रहा है, तो बढ़ने दें, व्यापारी खत्म हो रहे हैं। बिना सोचे अगर लॉकडाउन किया, तो गुस्सा फूट पड़ेगा। उन्होंने कहा कि सत्ताधारी मंत्रियों पर लगाम लगाओ। केंद्र की तरफ उंगली मत दिखाओ।

From around the web