नक्सली हमले में शहीद जवान की डेढ़ साल पहले हुई शादी, घर में मचा कोहराम

 
 
नक्सली हमले में शहीद जवान की डेढ़ साल पहले हुई शादी, घर में मचा कोहराम

नई दिल्ली (उत्तराखंड पोस्ट) शनिवार को छत्तीसगढ़ के बीजापुर और सुकमा ज़िले की सीमा पर नक्सलियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ हुई। नक्सलियों ने 700 जवानों को घेरकर हमला कर दिया। इस मुठभेड़ में 22जवान शहीद हो गए हैं। इस नक्‍सली हमले में जांजगीर जिले के पिहरीद के रहने वाले उपनिरीक्षक दीपक भारद्वाज शहीद हो गए।

 दीपक भारद्वाज की 2019 में शादी हुई थी। बास्केटबॉल और सिंगिंग के शौकीन दीपक इससे पहले भी कई बार नक्सलियों के खिलाफ ऑपरेशन को अंजाम दे चुके थे। शनिवार को सर्चिंग पर निकले दीपक की टीम को नक्सलियों ने घेर कर फायरिंग शुरू कर दी जिसमें कई जवान घायल हो गए। दीपक ने साथी जवानों का घेरा बना कर घायलों को सुरक्षित रखते हुए नक्सलियों की फायरिंग का जवाब देने लगे। इसी दौरान उनके करीब आईईडी ब्लास्ट हुआ और उनकी जान चली गई।

6 सितंबर 1990 को जन्मे दीपक ने 2013 में छत्तीसगढ़ पुलिस ज्वॉइन की थी। उनकी तैनाती बीजापुर में थी। साथी जवानों का कहना है कि दबाव के बीच गाने गाना दीपक की आदत थी। शनिवार को भी जब वे नक्सलियों से लोहा ले रहे थे तो साथियों का मनोबल बनाए रखने के लिए बीच-बीच में गाने गा रहे थे। लेकिन अतिवादियों के विस्फोट में उनके सुर हमेशा के लिए खामोश हो गए।

 शहीद के परिजनों का रो-रोकर बुराहाल है पिता कि आंखों के आंसू थम नहीं रहे हैं, उनके पिता ने बताया कि होली के पहले बेटा से बात हुई थी,बेटा बोला था बहुत व्यस्त हूं इसलिए बाद में बात करुगां लेकिन परिवार वालों को क्या पता था कि अब उनका बेटा कभी बात नही कर पाएगा।

From around the web