मां ने मोबाइल चलाने पर लगाई डांट, 10वीं की छात्रा ने आग लगाकर दी जान

मोबाइल फोन की लत में 10वीं की छात्रा इस कदर डूब चुकी थी कि मां द्वारा लगाई गई फटकार से नाराज होकर गुस्से में छात्रा ने आग लगाकर खुदकुशी कर ली। यह दिल दहला हुगली जिले के पांडुआ के श्रीपाला ग्राम की है। 
 
FIRE
 

नई दिल्ली (उत्तराखंड पोस्ट ) मोबाइल चलाने को लेकर मना करने पर 10वीं की छात्रा ने मां द्वारा लगाई गई फटकार से नाराज होकर गुस्से में छात्रा ने आग लगाकर खुदकुशी कर ली। यह दिल दहला हुगली जिले के पांडुआ के श्रीपाला ग्राम की है।

 घटना देर रात की है। घर के सारे सदस्य गहरी नींद में सो रहे थे।  जब सुबह काफी देर होने के बाद छात्रा नींद से नहीं उठी तो उसकी मां ने दरवाजा खटखटाया तो अंदर से कोई जवाब नहीं मिला जिसके बाद मां ने खिड़की से देखा कि उसकी बेटी संगीन हालात में घर के कमरे के फर्श पर पड़ी है।

आनन फानन में तत्काल घटनास्थल पर परिवार के अन्य सदस्य और आस-पड़ोस के लोग इकटढा हो गए घटना की खबर मिलते ही पुलिस तत्काल घटनास्थल पर पहुंची और मृतक छात्रा के शव को बरामद करके उसे पोस्टमॉर्टम के लिए अस्पताल भेज दिया।

जानकारी के मुताबिक रूबीना खातून कोलकाता के इकबालपुर इलाके की स्कूल की छात्रा थी। वह इकबालपुर इलाके में स्थित अपने मौसी के घर रह कर पढ़ाई किया करती थी। कोरोना काल में स्कूलों और शैक्षणिक संस्थानों के बंद होने के कारण वह दोबारा अपने मां के घर हुगली के पांडुआ आ गई। 

 कोरोना के प्रकोप के कारण लगभग डेढ़ साल से सारे स्कूलों के बंद हो जाने के कारण छात्रा मोबाइल फोन पर ही ऑनलाइन क्लास किया करती थी लेकिन मोबाइल फोन को इ. कदर उसने अपनी जिंदगी का हिस्सा बना लिया कि वह मोबाइल पर वीडियो गेम देखने के अलावा दिन के ज्यादातर समय अपने दोस्तों से ऑनलाइन चैटिंग में गुजारती थी।

जब उसकी मां सबीना खातून को इस बात का पता चला तो उसने अपनी बेटी को मोबाइल की लत को छोड़ने के लिए आगाह किया और इसके साथ-साथ बेटी को काफी फटकार भी लगाई.. इसी फटकार से नाराज होकर बेटी ने पहले अपने आप को घर के कमरे को बंद किया जिसके बाद अपने ऊपर केरोस‍िन तेल उड़ेल कर आग लगा ली।

घटनास्थल से पुलिस को एक सुसाइड नोट भी मिला है जिसमें छात्रा ने अपने मां द्वारा मोबाइल फोन की लत को छोड़ने के लिए बार बार-बार फटकार लगाने की बात कही है पुलिस मामले की जांच कर रही है।

From around the web