चिंता बढ़ाने वाली ख़बर, यहां 10 हजार से ज्यादा बच्चे हुए कोरोना पॉजीटिव

राजस्थान में अप्रैल और मई में ही बड़ी संख्या में बच्चे कोरोना पॉजिटिव हुए हैं। जयपुर की अघर बात करें तो अप्रैल और मई के महीने में एक ओर जहां 10 तक साल के साढ़े तीन हजार से अधिक बच्चे पॉजिटिव हो चुके हैं, वहीं 11 से 20 साल के 10,000 से अधिक बच्चे कोरोना संक्रमण के शिकार हो चुके हैं।
 
Corona

 

जयपुर (उत्तराखंड पोस्ट) कोरोना की दूसरी लहर के बीच चिकित्सा विशेषज्ञों ने कोरोना की तीसरी लहर की संभावना जताते हुए तीसरी लहर में बच्चों के प्रभावित होने की आशंका जताई है।

इस बीच राजस्थान से जो खबर मिल रही है वो चौंकाने वाली है। राजस्थान में अप्रैल और मई में ही बड़ी संख्या में बच्चे कोरोना पॉजिटिव हुए हैं। जयपुर की अघर बात करें तो अप्रैल और मई के महीने में एक ओर जहां 10 तक साल के साढ़े तीन हजार से अधिक बच्चे पॉजिटिव हो चुके हैं, वहीं 11 से 20 साल के 10,000 से अधिक बच्चे कोरोना संक्रमण के शिकार हो चुके हैं।

स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार अप्रैल और मई के महीने में जयपुर में 10 साल तक के 3 हजार 589 और 11 से 20 साल तक के 10 हजार 22 किशोर कोरोना पॉजिटिव हो चुके हैं।

अप्रेल में 0 से 10 साल के कुल 1672 बच्चे पॉजिटिव हुए।

अप्रेल में 11 से 20 साल तक के 4681 बच्चे पॉजिटिव हुए।

1 से 23 मई तक 0 से 10 साल के 1917 बच्चे पॉजिटिव हुए।

1 से 23 मई तक 11 से 20 साल के 5341 किशोर पॉजिटिव हुए।

दूसरी लहर में जयपुर में 21 से लेकर 40 साल तक के लोगों पर कोरोना का खतरा सबसे ज्यादा देखने को मिला। इस आयु वर्ग के 60,000 से अधिक लोग इन 2 महीनों में ही पॉजिटिव हुए हैं, लेकिन इतनी बड़ी संख्या में बच्चों के पॉजिटिव होने से चिंताएं बढ़ गई हैं। इस साल की शुरुआत के महीनों पर गौर करें तो हालात बिल्कुल उल्टे नजर आए। इस साल जनवरी, फरवरी और मार्च के महीने में जयपुर में 20 साल तक के महज 431 बच्चे ही पॉजिटिव हुए थे।

From around the web