अब यहां सबको नहीं मिलेगी शराब, सरकार ने लिया बड़ा फैसला, जानिए वजह 

सरकार का मानना है कि इससे अवैध शराब तस्करी पर रोक लगेगी और साथ ही एक्साइज रेवेन्यू में 20 प्रतिशत यानि कि 1 से 1000 करोड़ रुपए की बढ़त होगी। इतना ही नहीं अंडरएज के खिलाफ केजरीवाल सरकार नई मुहिम चलाएगी।

 
अब यहां सबको नहीं मिलेगी शराब, सरकार ने लिया बड़ा फैसला, जानिए वजह
नई दिल्ली (उत्तराखंड पोस्ट) केजरीवाल सरकार ने एक्साइज पॉलिसी में कई महत्वपूर्ण बदलाव किए हैं। इसके तहत अब दिल्ली में बेनामी शराब की दुकानें  बंद होंगी। शराब की दुकानों के लिए नए नियम घोषित किए जाएंगे।

सरकार का मानना है कि इससे अवैध शराब तस्करी पर रोक लगेगी और साथ ही एक्साइज रेवेन्यू में 20 प्रतिशत यानि कि 1 से 1000 करोड़ रुपए की बढ़त होगी। इतना ही नहीं अंडरएज के खिलाफ केजरीवाल सरकार नई मुहिम चलाएगी।

यूपी और मध्य प्रदेश की तरह अब दिल्ली में शराब पीने की लीगल उम्र 21 साल होगी। 21 साल से जिसकी कम उम्र होगी उन युवकों को आईडी कार्ड दिखाना अनिवार्य होग। इसके साथ ही केजरीवाल सरकार नकली शराब को खत्म करने के लिए दिल्ली में भारत का सबसे पहला इंटरनेशनल स्तर का चेकिंग लैन बनाएंगे।

उपमुख्यमंत्री मनीष सिसौदिया ने बताया कि दिल्ली में 20% ओवर सर्व्ड हैं, जहां एक-एक गली में कई दुकानें हैं। कई मॉल ऐसे हैं, जहां 8-10 शराब की दुकानें हैं। 850 दुकानों में आधी दुकानें 45 वार्ड में हैं। 50 प्रतिशत रिवेन्यु वार्ड 46 से आ रहा है यानी बाकी इलाकों में चोरी हो रही है।

दिल्ली में पिछले दो साल में 7 लाख 9 हजार बोतल अवैध शराब जब्त की गई है, जिस पर पुलिस ने 1864 एफआईआर दर्ज करके 1939 लोगों को गिरफ्तार कराया है। वहीं एक हजार वाहनों को भी पुलिस ने जब्त किया है। पुलिस ने 2000 शराब माफिया को अवैध ढंग से दुकान चलाते हुए पाया है।

From around the web