कोरोना की दूसरी लहर ? PM मोदी की मुख्यमंत्रियों के साथ में बैठक में होगा बड़ा फैसला ?

देश में तेजी से बढ़ते कोरोना के मामलों ने केंद्र और राज्य सरकारों की नींद उड़ा दी है। कोरोना की दूसरी लहर से संक्रमितों लोगों का आंकड़ा तेजी से बढ़ रहा है। देशभर में कोरोना संक्रमितो की संख्या 1.14 करोड़ पार कर चुकी है। वहीं, 1.58 लाख लोगों की अब तक मौत भी हो चुकी है, देश में अभी दो लाख से ज्यादा एक्टिव केस है। इस स्थिति को देखते हुए PM मोदी सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक करेंगे।
 
कोरोना की दूसरी लहर ? PM मोदी की मुख्यमंत्रियों के साथ में बैठक में होगा बड़ा फैसला ?

नई दिल्ली (उत्तराखंड पोस्ट) देश में तेजी से बढ़ते कोरोना के मामलों ने केंद्र और राज्य सरकारों की नींद उड़ा दी है। कोरोना की दूसरी लहर से संक्रमितों लोगों का आंकड़ा तेजी से बढ़ रहा है। देशभर में कोरोना संक्रमितो की संख्या 1.14 करोड़ पार कर चुकी है। वहीं, 1.58 लाख लोगों की अब तक मौत भी हो चुकी है, देश में अभी दो लाख से ज्यादा एक्टिव केस है। इस स्थिति को देखते हुए PM मोदी सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक करेंगे।

कई राज्यों में कोरोना के केस तेजी से बढ़ रहे है। मध्य प्रदेश सरकार ने भोपाल और इंदौर में नाइट कर्फ्यू लगा दिया है। गुजरात, पंजाब और महाराष्ट्र में स्कूलों को बंद किए जाने का निर्देश जारी किया गया है। पंजाब में बोर्ड परीक्षाओं को एक महीने के लिए टाल दिया गया है। वहीं महाराष्ट्र में कई जगह लॉकडाउन लागू किया गया है।

एक केंद्रीय टीम ने महाराष्ट्र को कोरोना वायरस की दूसरी वेव करार दिया है और केंद्र सरकार से अपील की है कि राज्य से कड़े कदम उठाने को कहा जाए। टीम के मुताबिक कोरोना वायरस के मरीजों के कॉन्टैक्ट को ट्रेस, टेस्ट, आइसोलेट और क्वॉरंटीन करने में सीमित सक्रियता दिखाई दी है। शहरी और ग्रामीण, दोनों इलाकों में लोगों का व्यवहार कोविड-19 की महामारी से निपटने के लिए अनुकूल नहीं है।

अब ऐसे में पीएम मोदी की सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ होने वाली बैठक को अहम माना जा रहा है। वैक्सीनेशन के दौरान कोरोना विस्फोट पर केंद्र क्या फैसला लेता ये बहुत अहम है। अगर सच में कोरोना की दूसरी लहर है तो क्या एक बार फिर इसे रोकने को सख्त लॉकडाउन का सहारा लिया जाएगा ? पीएम मोदी की बैठक के बाद जल्द ही इस पर स्थिती साफ हो जाएगी।

From around the web