उत्तराखंड | ग्लेशियर टूटने की घटना का अमित शाह ने लिया संज्ञान, पूरी मदद का दिया आश्वासन

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने ट्वीट कर बताया- माननीय गृह मंत्री श्री अमित शाह जी ने नीति घाटी के सुमना में ग्लेशियर टूटने की सूचना का तत्काल संज्ञान लिया है। उन्होंने इस घटना को गंभीरता से लेते हुए उत्तराखंड को पूरी मदद देने का आश्वासन दिया है और आईटीबीपी को सतर्क रहने के निर्देश दिये है।
 
उत्तराखंड | ग्लेशियर टूटने की घटना का अमित शाह ने लिया संज्ञान, पूरी मदद का दिया आश्वासन
जरुर पढ़िए- कोरोना | स्टडी में बड़ा खुलासा- ठीक हो चुके लोगों में मौत और गंभीर बीमारियों का खतरा ज्यादा!

देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट) उत्तराखंड से बड़ी और चिंताजनक खबर सामने आ रही है। खबर है कि चमोली जिले में जोशीमठ के पास भारत-चीन बार्डर के करीब एक ग्लेशियर टूटा है। वहीं केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने घटना का संज्ञान लिया है। अमित शाह ने इस बारे में मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत से जानकारी ली है।

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने ट्वीट कर बताया- माननीय गृह मंत्री श्री अमित शाह जी ने नीति घाटी के सुमना में ग्लेशियर टूटने की सूचना का तत्काल संज्ञान लिया है। उन्होंने इस घटना को गंभीरता से लेते हुए उत्तराखंड को पूरी मदद देने का आश्वासन दिया है और आईटीबीपी को सतर्क रहने के निर्देश दिये है। उनकी इस तत्परता व संवेदनशीलता के लिए मैं अपने प्रदेशवासियों की ओर से माननीय गृह मंत्री श्री अमित शाह जी का दिल से आभार व्यक्त करता हूं।

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने ट्वीट कर कहा- नीती घाटी के सुमना में ग्लेशियर टूटने की सूचना मिली है। इस संबंध में मैंने एलर्ट जारी कर दिया है। मैं निरंतर जिला प्रशासन और बीआरओ के सम्पर्क में हूँ।


 

तीरथ ने कहा- जिला प्रशासन को मामले की पूरी जानकारी प्राप्त करने के निर्देश दे दिए हैं। एनटीपीसी एवं अन्य परियोजनाओं में रात के समय काम रोकने के आदेश दे दिए हैं ताकि कोई अप्रिय घटना ना होने पाये।


 

वहीं उत्तराखंड पुलिस ने जानकारी देते हुए कहा-  भारत चीन सीमा पर सुमना के पास ग्लेशियर टूटने की सूचना सोशल मीडिया  पर वायरल हो रही है। इस संबंध मे बीआरओ कमांडर ने बताया कि ग्लेशियर टूटने की सूचना उन्हें भी प्राप्त हुई है। जानकरी जुटाई जा रही है कि यह घटना किस जगह पर हुई है।खराब मौसम के कारण दूरभाष से भी संपर्क नही हो पा रहा है।टीमों को स्थिति का जायज़ा लेने के लिए रवाना कर दिया गया है।जब तक आधिकारिक पुष्टि नही हो जाती है धैर्य व संयम बनाये रखें व अफवाह फैलाने से बचें।

आपको बता दें कि 7 फरवरी को चमोली ग्लेशियर टूटने की घटना सामने आई थी। उस घटना के बाद 205 लोग लापता बताए गए, वहीं 79 ने अपनी जान गंवा दी थी। उस त्रासदी से लोग अभी उभरे भी नहीं थे कि अब एक और घटना ने सभी को डरा दिया है।

From around the web