बाजार से गायब क्यों हो रहे है दो हजार के नोट ? सरकार ने दिया ये जवाब

नवंबर 2016 में नोटबंदी के ऐलान के बाद सरकार ने 2 हजार रुपये का नोट पहली बार जारी किया था। लेकिन धीरे-धीरे 2000 रुपये के नोट अब बाजार में कम देखने को मिल रहे है। ATM मशीन से भी 2000 रुपये के नोट कम निकल रहे हैं? आखिरी 2000 रुपये के नोट कम होने के पीछे वजह क्या है? अब सरकार ने इसका जवाब दे दिया है।
 
बाजार से गायब क्यों हो रहे है दो हजार के नोट ? सरकार ने दिया ये जवाब

नई दिल्ली (उत्तराखंड पोस्ट) नवंबर 2016 में नोटबंदी के ऐलान के बाद सरकार ने 2 हजार रुपये का नोट पहली बार जारी किया था। लेकिन धीरे-धीरे 2000 रुपये के नोट अब बाजार में कम देखने को मिल रहे है। ATM मशीन से भी 2000 रुपये के नोट कम निकल रहे हैं? आखिरी 2000 रुपये के नोट कम होने के पीछे वजह क्या है? अब सरकार ने इसका जवाब दे दिया है।

सरकार ने लोकसभा में बताया है कि पिछले दो वर्षों में 2 हजार रुपये के एक भी नोट की छपाई नहीं हुई है। वित्त राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर ने संसद में यह जानकारी दी है। उन्होंने कहा कि नोटों की प्रिंटिंग को लेकर आरबीआई के साथ बातचीत कर सरकार फैसला लेती है। अप्रैल 2019 के बाद से एक भी नया 2000 का बैंक नोट नहीं छापा गया है। अनुराग ठाकुर ने बताया कि पिछले तीन वर्षों में लगातार 2000 रुपये के नोट प्रचलन में घटे हैं।

उन्होंने बताया कि 30 मार्च 2018 को 2000 रुपये के 336.2 करोड़ नोट सर्कुलेशन में थे, जबकि 26 फरवरी 2021 को इसकी संख्या घटकर 249.9 करोड़ रह गई। वहीं मार्च, 2020 के अंत तक चलन में मौजूद 2,000 के नोटों की संख्या 273.9 करोड़ थी। जबकि मार्च- 2019 के अंत में 2000 के नोटों की संख्या 329.1 करोड़ थी।

From around the web