कुंभ के रंगों से सराबोर हुआ हरिद्वार, टेंटनगरी में तब्दील हुई धर्मनगरी

अगर आप हरिद्वार कुंभ में आ रहे हैं तो धार्मिक स्थलों में प्रवेश के दौरान मास्क का इस्तेमाल जरुर करें और साथ ही दो गज की दूरी बेहद जरूरी है। समय- समय पर अपने हाथों को सेनीटाइज भी जरुर करते रहें।
 
कुंभ के रंगों से सराबोर हुआ हरिद्वार, टेंटनगरी में तब्दील हुई धर्मनगरी
हरिद्वार (उत्तराखंड पोस्ट) कुंभ सिर्फ एक मेला नहीं बल्कि यह आध्यात्मिक ज्ञान का तीर्थ और भक्तों की आस्था को एक सूत्र में बांधने का माध्यम भी है। 'हरी की नगरी' यानि हरिद्वार कुंभ के रंगों से पूरी तरह सराबोर है।

चाहे बैरागी कैम्प का क्षेत्र हो, गौरीशंकर द्वीप या चंडी टापू। चारों ओर कुंभनगरी टेंटनगरी में तब्दील हो गई है। संत-महात्माओं के आश्रमों में सुबह से शाम तक हो रहे धार्मिक आयोजनों से समूचे हरिद्वार का वातावरण भक्तिमय हो गया है। भले यह आश्रम अस्थाई रूप से बनाए गए हों लेकिन इनकी आभा देखते ही बन रही है। श्रद्धालु भी पूरे भक्ति में रमे नजर आ रहे हैं।

अगर आप हरिद्वार कुंभ में आ रहे हैं तो धार्मिक स्थलों में प्रवेश के दौरान मास्क का इस्तेमाल जरुर करें और साथ ही दो गज की दूरी बेहद जरूरी है। समय- समय पर अपने हाथों को सेनीटाइज भी जरुर करते रहें।

From around the web