उत्तराखंड | चुनावी मौसम में हरीश रावत का एक और वादा, क्या पूरा कर पाएंगे ?

हरदा ने कहा- आंगनबाड़ी की बहनों, सहायिकाओं और मिनी आंगनबाड़ी की बहनो, आप निराश न हों। 5 साल के संघर्ष के बाद आपको जो कुछ दिया गया है, वो ऊंट के मुंह में जीरे के समान है। क्योंकि 5 सालों के अंदर इतनी तो महंगाई बढ़ गई है।
 
Harish Rawat

 

देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट) चुनावी मौसम में वादे पर वादा कर रहे पूर्व सीएम हरीश रावत ने एक और वादा किया है। हरदा नेये वादा आंगनबाड़ी बहनों से किया है। हरदा ने आंगनबाड़ी बहनों से उनका मानदेय बढ़ाने का वादा किया है।

हरदा ने कहा- आंगनबाड़ी की बहनों, सहायिकाओं और मिनी आंगनबाड़ी की बहनो, आप निराश न हों। 5 साल के संघर्ष के बाद आपको जो कुछ दिया गया है, वो ऊंट के मुंह में जीरे के समान है। क्योंकि 5 सालों के अंदर इतनी तो महंगाई बढ़ गई है।

हमारा आपसे वादा है, चाहे आप हों, चाहे आशा की बहनें हों, चाहे भोजन माताएं हों जो ग्रामीण महिला सशक्तिकरण की रीड़ की हड्डी हैं, हम उन सबका ख्याल करेंगे।

हरदा ने आगे कहा कि मैं जानता हूं राज्य की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं है। मगर मैं यह भी जानता हूं, आपको जो कुछ दिया जा रहा है, वो आपसे लिए जा रहे काम के एवज में बहुत कम है। कल कांग्रेस आएगी, कांग्रेस आपके लिये यथासंभव साधन जुटाकर आपकी भावनाओं का सम्मान करेगी। जितना हमने 3 साल में किया, भाजपा तो 5 साल में भी उतना नहीं कर पाई और उल्टा यदि महंगाई में हुई वृद्धि को ध्यान में रखकर के मानदेय की वृद्धि की तुलना करें तो लगभग शून्य है।

From around the web