गांधीवादी नेता व पूर्व कैबिनेट मंत्री रामप्रसाद टम्टा का निधन, उत्तराखंड में शोक की लहर

  1. Home
  2. Uttarakhand
  3. Bageshwar

गांधीवादी नेता व पूर्व कैबिनेट मंत्री रामप्रसाद टम्टा का निधन, उत्तराखंड में शोक की लहर

ttt

उत्तराखंड सरकार के पूर्व कैबिनेट मंत्री रहे राम प्रसाद टम्टा का निधन हो गया है। वह 75 वर्ष के थे लंबे समय से बीमार चल रहे थे


 

बागेश्वर (उत्तराखंड पोस्ट) उत्तराखंड सरकार के पूर्व कैबिनेट मंत्री रहे राम प्रसाद टम्टा का निधन हो गया है। वह 75 वर्ष के थे लंबे समय से बीमार चल रहे थे।

 

उत्तराखंड की पहली निर्वाचित सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे थे उनके निधन की सूचना पर बागेश्वर में शोक की लहर दौड़ गई है। रामप्रसाद टम्टा के निधन पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी, कैबिनेट मंत्री चन्दन राम दास, विधायक कपकोट सुरेश गड़िया, जिला पंचायत अध्यक्ष बसंती देव समेत विभिन्न सामाजिक संगठनों ने शोक व्यक्त किया है।

 

पूर्व समाज कल्याण मंत्री राम प्रसाद टम्टा साल 1968 में यूथ कांग्रेस से जुड़े थे। 1971 में 18 साल की उम्र होने पर संगठन में चले गए. इसी उम्र में महज 12 रुपये खर्च कर ग्राम प्रधान पद का चुनाव लड़ा था. चुनाव जीतने के बाद उनके समर्थकों ने गुड़ की भेली बांट कर खुशी मनाई थी इसके बाद वह उत्तर प्रदेश की विधानसभा में बागेश्वर से 1993 में पहली बार विधायक बने

इसके बाद वे राज्य गठन के बाद 2002 में इसी सीट से दोबारा विधायक बने तो उत्तराखंड की पहली निर्वाचित सरकार में वह समाज कल्याण मंत्री बने और मुख्यमंत्री नारायण दत्त तिवारी के साथ 2007 तक मंत्री रहे। उनका कहना था कि समाजसेवा की धुन इस कदर रही कि उन्होंने अपने लिए कुछ नहीं किया।