उत्तराखंड | गोशाला में आग लगने से 47 बकरियों की जिंदा जलकर मौत

चमोली एक दुखद खबर सामने आई है। देवाल विकासखंड के बेराधार गांव में गोशाला में आग लगने से 47 बकरियां जिंदा जल गई। साथ ही बकरी पालक खुद भी झुलस गया।

 
aaa
 

चमोली (उत्तराखंड पोस्ट) चमोली एक दुखद खबर सामने आई है। देवाल विकासखंड के बेराधार गांव में गोशाला में आग लगने से 47 बकरियां जिंदा जल गई। साथ ही बकरी पालक खुद भी झुलस गया।

मिली जानकारी के अनुसार बेराधार गांव निवासी महिपाल सिंह (76 वर्ष) की गोशाला में आग लग गई जिसके बाद आग ने भीषण रुप ले लिया। गांव वालों को इसकी जानकारी तब मिली जब उन्होंने धुआं उठता देखा।

लोगों ने आग बुझाने की कोशिश की लेकिन वो आग बुझा नहीं पाए। ग्रामीणों ने महिपाल सिंह को किसी तरह बाहर निकाला। लेकिन गोशाला के अंदर की 47 बकरियां जल कर मर गई।

ग्रामीणों ने इसकी सूचना तहसील प्रशासन को दी। मौके पर पहुंचे देवाल के नायब तहसीलदार अर्जुन सिंह बिष्ट ने बताया है कि महिपाल सिंह ने ठंड से बचने के लिए रविवार सुबह 4 बजे उठा और गोशाला में आग जला दी। उसके बाद वो वहां सो गया। अचानक आग धीरे धीरे गौशाला में फैल गई औऱ गोशाला के अंदर मौजूद 47 बकरियां जल गई। प्रथम दृष्टा आग लगने का कारण पालक द्वारा आग जलाना ही बताई जा रही है।

From around the web