उत्तराखंड के सूरज बने भारतीय वायुसेना में बने फ्लाइंग लेफ्टिनेंट

 
suu
 

चंपावत (उत्तराखंड पोस्ट) कहते हैं मन में कुछ करने का अटूट जज्बा हों तो कुछ भी मुश्किल नहीं है। इस बात को एक बार फिर सही साबित कर दिखाया है उत्तराखंड के होनहार बेटे सूरज सिंह मेहरा ने जी हां देवभूमि उत्तराखंड के चंपावत का बेटा भारतीय वायुसेना में अफसर बन गया है।

 चंपावत, लोहाघाट निवासी सूरज सिंह मेहरा भारतीय वायु सेना में फ्लाइंग लेफ्टिनेंट बन गए हैं। अब वो आसमान में उडा़न भरेंगे और लडाकू विमान को चलाएंगे। परिवार में खुशी का माहौल है

बता दें कि सूरज मेहरा 2019 में आइएएफ हैदराबाद से कमीशन प्राप्त हुए। सूरज को बचपन से ही वायु सेना में जाने का शोक था। वर्तमान में वायुसेना स्टेशन फलोदी राजस्थान में तैनात सूरज की शुक्रवार को पदोन्नति हो गई। सूरज ट्रेनिंग के बाद भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमान उड़ा सकेंगे।

सूरज ने अपनी प्राथमिक शिक्षा डीएवी पब्लिक स्कूल लोहाघाट से की। साथ ही 10वीं और 12वीं की शिक्षा सैनिक स्कूल बालाचड़ी (गुजरात) से हासिल की।

12वीं के बाद सूरज का चयन राष्ट्रीय रक्षा अकादमी पुणे में हुआ। सूरज ने अपनी सफलता का श्रेय अपने माता-पिता को दिया है, जिन्होंने इस कठिन राह में उनका हमेशा मार्गदर्शन किया।उनके फ्लाइंग लेफ्टिनेंट बनने पर परिजनों के साथ ही क्षेत्र में भी खुशी की लहर है।

जानकारी मिली है कि  कि सूरज मेहरा के पिता अर्जुन सिंह मेहरा भारतीय सेना से सेवानिवृत्त सूबेदार हैं और मां रजनी मेहरा गृहिणी हैं। सूरज की छोटी बहन मोनिका मेहरा पंतनगर कृषि विश्व विद्यालय से बीएससी कर रही हैं।

From around the web