टिहरी रियासत की राजमाता का 98 वर्ष की आयु में निधन, धामी ने जताया दुख

टिहरी रियासत की राजमाता सूरज कुंवर शाह का 98 वर्ष की आयु में निधन हो गया है। आपको बता दें कि दिवंगत सूरज कुंवर 8 बार टिहरी उत्तराखंड से सांसद रहे मानवेन्द्र शाह की धर्मपत्नी थी।
 
Tehri

 

देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट) टिहरी रियासत की राजमाता सूरज कुंवर शाह का 98 वर्ष की आयु में निधन हो गया है। आपको बता दें कि दिवंगत सूरज कुंवर 8 बार टिहरी उत्तराखंड से सांसद रहे मानवेन्द्र शाह की धर्मपत्नी थी।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने राजमाता सूरज कुंवर साह के निधन पर दुख जताया है। धामी ने कहा- टिहरी गढ़वाल संसदीय सीट के पूर्व सांसद स्व. महाराजा मानवेंद्र शाह जी की धर्मपत्नी राजमाता श्रीमती सूरज कुँवर शाह जी के निधन का दु:खद समाचार प्राप्त हुआ। ईश्वर दिवंगत आत्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान दें और शोक संतप्त परिजनों को यह दुःख सहने की शक्ति प्रदान करें।

आपको बता दें कि सूरज कुंवर राजस्थान के बांसवाड़ा रियासत के राजा की बेटी थी उनका जन्म 22 सितम्बर 1923 को हुआ। वर्ष 2007 में राजा मानवेन्द्र शाह का निधन हो गया था। 98 वर्षीय सूरज कुंवर अपने पीछे तीन पुत्रियां और एक बेटा मनुजेंद्र (टीका) शाह को छोड़ गई हैं।

टिहरी रियासत में शाह वंश ने 1815 से 1949 तक शासन किया। आजादी आंदोलन में टिहरी रियासत के लोग बढ़चढ़ कर हिस्सा लेने लगे और साथ ही रियासत का भारत मे विलय का आंदोलन भी चला। इस आंदोलन के बाद टिहरी रियासत की पकड़ जनता में कम होने लगी। जिसे भांपकर पवार वंश के शासक महाराजा मानवेन्द्र शाह ने भारत मे विलय कर लिया। आजादी के बाद लगातार 8 बार राजवंशी मानवेन्द्र शाह टिहरी के सांसद रहे। 2007 में उन्होंने देह त्याग दिया आज उनकी धर्मपत्नी ने भी 98 वर्ष की आयु में देह त्याग दिया।

From around the web