उत्तराखंड | साली को मौत के घाट उतारने के बाद शव किया था दुष्कर्म, जानें पूरा मामला

उत्तराखंड के उधम सिंह नगर के गदरपुर में 31 अक्टूबर को हुए महिला हत्याकांड में पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है। मामले में पुलिस ने जीजा को गिरफ्तार किया है आरोपी जीजा साली को सिलबट्टे से सर पर मार कर मौत के घाट से उतारने के बाद उसके साथ दुष्कर्म की घटना को भी अंजाम दिया था।
 
murder

गदरपुर (उत्तराखंड पोस्ट ) उत्तराखंड के उधम सिंह नगर के गदरपुर में 31 अक्टूबर को हुए महिला हत्याकांड में पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है। मामले में पुलिस ने जीजा को गिरफ्तार किया है आरोपी जीजा साली को सिलबट्टे से सर पर मार कर मौत के घाट से उतारने के बाद उसके साथ दुष्कर्म की घटना को भी अंजाम दिया था।

पुलिस ने गुरुवार को खुलासा करते हुए बताया कि 31 अक्टूबर को वार्ड नंबर 2 में घोला कॉलोनी में विवाहिता शाइस्ता का शव मिला था शाइस्ता 1 साल पहले पति को छोड़कर अपने मायके में रह रही थी । पुलिस को शव के पास से खून से सना सिलबट्टा मिला था जिसके बाद पुलिस ने इस पूरे मामले में गहन छानबीन शुरू कर दी

पुलिस अधीक्षक काशीपुर क्षेत्राधिकारी थाना अध्यक्ष लगातार इस केस की जांच में जुटे रहे घटनास्थल से राष्ट्रीय राजमार्ग तक सीसीटीवी कैमरे खंगालने के के बाद 29 अक्टूबर को एक व्यक्ति घर में बैठ के साथ आता दिखाई दिया जिसकी पहचान मृतका के जीजा आरिफ के रूप में हुई।

पुलिस ने छानबीन के बाद गुरुवार दोपहर सूरजपुर चौराहा मार्ग से आरोपी आरिफ पुत्र जाहिद हुसैन निवासी मुरादाबाद को गिरफ्तार कर लिया, पुलिस पूछताछ में आरिफ ने हत्या और फिर से उसे दुष्कर्म की बात भी कबूली।आरोपित के पास से साली के दो मोबाइल फोन, एक बैग एवं खुद के खून से सने कपड़े भी बरामद हुए।

थानाध्यक्ष बिजेंदर साह ने बताया कि आरोपित आरिफ का निकाह शाइस्ता की बहन नूरबानो के साथ हुआ था। नूरबानो को अपने साथ काठमांडू ले गया। नूरबानो कुछ समय बाद काठमांडू से अकेले ही भारत लौट आर्ई। उसने अपने रुद्रपुर निवासी प्रेमी विष्णु के साथ शादी कर ली। आरिफ को पता चला तो नूरबानो की हत्या के लिए काठमांडू से गदरपुर आ गया। ससुराल में पत्नी नहीं मिली तो साली शाइस्ता की हत्या कर दी।

शाइस्ता की हत्या के बाद वापस काठमांडू चला गया। मगर पत्नी नूरबानो के प्रति उसकी नफरत उसे फिर गदरपुर ले आई। वह पत्नी को भी मार डालने की फिराक में था।लेकिन गिरफ्तार कर लिया।

पुलिस अधीक्षक काशीपुर क्षेत्राधिकारी थाना अध्यक्ष लगातार इस केस की जांच में जुटे रहे घटनास्थल से राष्ट्रीय राजमार्ग तक सीसीटीवी कैमरे खंगालने के के बाद 29 अक्टूबर को एक व्यक्ति घर में बैठ के साथ आता दिखाई दिया जिसकी पहचान मृतका के जीजा आरिफ के रूप में हुई।

पुलिस ने छानबीन के बाद गुरुवार दोपहर सूरजपुर चौराहा मार्ग से आरोपी आरिफ पुत्र जाहिद हुसैन निवासी मुरादाबाद को गिरफ्तार कर लिया, पुलिस पूछताछ में आरिफ ने हत्या और फिर से उसे दुष्कर्म की बात भी कबूली।आरोपित के पास से साली के दो मोबाइल फोन, एक बैग एवं खुद के खून से सने कपड़े भी बरामद हुए।

 बताया गया कि आरोपित आरिफ का निकाह शाइस्ता की बहन नूरबानो के साथ हुआ था। नूरबानो को अपने साथ काठमांडू ले गया। नूरबानो कुछ समय बाद काठमांडू से अकेले ही भारत लौट आर्ई। उसने अपने रुद्रपुर निवासी प्रेमी विष्णु के साथ शादी कर ली। आरिफ को पता चला तो नूरबानो की हत्या के लिए काठमांडू से गदरपुर आ गया। ससुराल में पत्नी नहीं मिली तो साली शाइस्ता की हत्या कर दी। शाइस्ता की हत्या के बाद वापस काठमांडू चला गया। मगर पत्नी नूरबानो के प्रति उसकी नफरत उसे फिर गदरपुर ले आई। वह पत्नी को भी मार डालने की फिराक में था।लेकिन गिरफ्तार कर लिया।

 

From around the web