उत्तराखंड में मौसम का गदर जारी, कुमाऊं से गढ़वाल तक हर अपडेट यहां मिलेगा

मौसम विभाग के रेड अलर्ट के बीच बुधवार का दिन उत्तराखंड के लिए भारी पड़ रहा है। लगातार हो रहा बरसात से नदी नाले उफान पर हैं। कुमाऊं और गढ़वाल मंडल से लगातार अप्रिय समाचार मिल रहे हैं।
 
Cloud
 

देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट) मौसम विभाग के रेड अलर्ट के बीच बुधवार का दिन उत्तराखंड के लिए भारी पड़ रहा है। लगातार हो रहा बरसात से नदी नाले उफान पर हैं। कुमाऊं और गढ़वाल मंडल से लगातार अप्रिय समाचार मिल रहे हैं।

चकराता में बादल फटा

उत्तराखंड से मौसम विभाग के रेड अलर्ट के बीच दूसरी चिंता बढ़ाने वाली खबर राजधानी देहरादून जिले से मिल रही है।

जानकारी के अनुसार देहरादून जिले के चकराता के बिरनाड में बादल फटने की खबर है। बादल फटने से आए मलबे के सैलाब में 4 लोग लापता बताए जा रहे हैं, वहीं 3 लोग मतबे में भी दबे हुए हैं। घटना की सूचना मिलने के बाद प्रशिसनिक टीमें राहत एवं बचाव कार्य के लिए मौके पर पहुंच रही हैं।

वहीं मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने ट्वीट कर कहा- राज्य में 48 घंटे से जारी बारिश के बीच चकराता तहसील के बिजनाड़ छानी में बादल फटने से काफी नुकसान होने और चार लोगों के लापता होने का समाचार मिला। साथ ही गांव के 3 लोगों के दबे होने की आशंका भी जताई जा रही है।

मुख्यमंत्री ने कहा- अतिवृष्टि से हुए नुकसान की जानकारी मिलते ही राजस्व पुलिस, पुलिस और एसडीआरएफ की टीमें मौके पर पहुंच कर राहत एवं बचाव कार्यों में जुट गई है। आपदा में प्रभावित लोगों को आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराने का राज्य सरकार समुचित प्रबंध करेगी।

ऋषिकेश-श्रीनगर हाईवे बंद

उत्तराखंड से एक और बड़ी खबर मिल रही है। ऋषिकेश-श्रीनगर एनएच-58 भारी भूस्खलन के चलते पूरी तरह बंद हो गया है। खबर है कि कोडियाला और ब्यासी के पास भारी भूस्खलन हुआ है, जिसके चलते फिलहाल ऋषिकेश-श्रीनगर एनएच-58 में आवाजाही पूरी तरह बाधित हो गई है।

जानकारी के अनुसार सड़क से मलबा हटाने का काम जारी है और दो बड़ी मशीनों से मलबा लगातार हटाया जा रहा है और दो घंटे में ऋषिकेश-श्रीनगर एनएच-58 पर आवाजाही सुचारु होने की उम्मीद है।

उफान पर लामबगड़ नाला

चमोली जिले में बारिश तबाही मचा रही है। यहां बदरीनाथ हाईवे पर अतिवृष्टि के कारण लामबगड़ नाला उफान पर आ गया है। जिस वजह से यहां एक मालवाहक ट्रक फंस गया। चालक और परिचालक ने भागकर अपनी जान बचाई। 

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने ट्वीट कर कहा- चमोली में भारी बारिश से लामबगड़ में खचड़ा नाले के उफान पर आने से बद्रीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग-7 का 50 मीटर हिस्सा बह गया और इलाके में कई स्थानों पर हाईवे बाधित होने का समाचार मिला।


 

आपदा की सूचना मिलते ही पुलिस और एसडीआरएफ की टीमें राहत एवं बचाव कार्यों में जुट गई है। शीघ्रातिशीघ्र राष्ट्रीय राजमार्ग पर आवागमन सुचारू करवा दिया जाएगा।

जिलाधिकारी को प्रभावितों तक तुरंत सहायता पहुंचाने के निर्देश दिए हैं।आपदा में प्रभावित लोगों को आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराने का राज्य सरकार समुचित प्रबंध करेगी।

गंगोत्री हाईवे बंद

गंगोत्री हाईवे भी बुधवार रात से हो रही बारिश के कारण मलबा आने से बंद हो गया है। यहां खनेडा मोटर पुल के पास भूस्खलन होने से मार्ग बंद हो गया है। यहां आसपास के इलाके में मौजूद घरों पर मलबा गिरने का खतरा बना गया है।

मलबा आने से हाईवे बंद

वहीं नैनीताल जिले में ज्योलिकोट वीरभट्टी पुल के पास मलवा आने से हाईवे बंद हो गया है। मलबा हटाने के लिये जेसीबी लगाई गई है।

राष्ट्रीय राजमार्ग में कई जगह आया मलबा

पिछले 24 घंटे से अधिक समय से हो रही लगातार बारिश के चलते भवाली-अल्मोड़ा राष्ट्रीय राजमार्ग में जगह-जगह मलबा आने से कैंची और पाडली में मार्ग बंद होने से मार्ग में वाहनों की कतार लग गई।

आपको बता दें कि अगले 24 घंटे मौसम के लिहाज से उत्तराखंड के लिए भारी हैं। मौसम विभाग ने रेड अलर्ट जारी करते हुए अगले 24 घंटे में प्रदेश के अधिकतर हिस्सों में भारी से भारी बारिश की चेतावना जारी की है।

From around the web