“जरा चैक कर लो, कहीं एक रावत का गुस्सा दूसरे पर तो नहीं निकाल रहे हो”

सत्ता से बेदखल होने के बाद अब पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने राज्य की नव निर्वाचित भारतीय जनता पार्टी सरकार पर जमकर निशाना साधा है।  अब ख़बरें एक क्लिक पर इस लिंक पर क्लिक कर Download करें Mobile App – उत्तराखंड पोस्ट

हरीश रावत ने भाजपा के उन पर सरकारी खजाना खाली करने के आरोपों पर पलटवार करते हुए कहा कि मेरे भाजपाई दोस्तों आप बार-2 कह रहे हैं कि खजाना खाली हो गया है तो मुझे यह बताओ क्या अप्रैल में मिलने वाली सरकारी कर्मचारियों की तनख्वा नहीं मिल पायी ? सरकारी चैक व ट्रेजरी में बिल बाउंस हुए हैं ? यदि नहीं हुए तो, भईया खजाना कहां खाली है। रावत ने बताया कि सरकारी खजाने में हर माह तीन श्रोतों से राजस्व आता है।

  • विभिन्न करों, शेष, सरकारी स्टैम्प आदि की बिक्री से।
  • केन्द्रीय विभिन्न अनुदान की मदों से।
  • बाजार से ऋण।

हरीश रावत ने कहा कि मेरी सरकार अप्रैल तक पूरा बन्दोबस्त करके गई है। मार्च से आप सरकार में हैं। यदि मई में खजाना खाली है तो हरीश रावत कहां से दोषी हुआ। हरीश रावत ने तंज कसते हुए कहा कि कहीं आप लोग एक रावत का गुस्सा दूसरे रावत पर तो नहीं निकाल रहे हैं, जरा ठीक से चैक कर लो।

मुख्यमंत्री रहते हुए अधूरा रह गया हरीश रावत का ये सपना, साझा किया दर्द

घर ढ़ूंढ़ने में मुश्किल हुई तो हरीश रावत बोले- लोग नेताओं को घर देने में डरते क्यों हैं ?

 

भाजपा ने जो गढ्डे खोदे हैं, अब उन्हीं को भरना मुश्किल हो रहा है: रावत