त्रिवेंद्र के पलटवार पर बोले हरीश रावत- इस टिपिकल पहाड़ी शब्द को नहीं समझ पाए मुख्यमंत्री

890

देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट) फेसबुक पर हरीश रावत और त्रिवेंद्र सिंह रावत के बीच ओराप-प्रत्यारोप के तीर के बीच त्रिवेंद्र सिंह रावत ने हरीश रावत पर पलटवार किया तो हरीश रावत ने भी जवाब देने में देर नहीं कि और त्रिवेंद्र पर फिर एक फेसबुकिया तीर छोड़ा।

हरीश रावत सीएम त्रिवेंद्र को जवाब देते हुए क्या कहा इसे आप नीचे पूरा पढ़ सकते हैं-

भेंटें शब्द टिपिकल पहाड़ी शब्द है। मुख्यमंत्री Trivendra Singh Rawat जी ने भेंटें का अर्थ भेंट से लिया है कि हमारी भेंट होगी। भेंट जरूर होगी, हम सार्वजनिक जीवन में हैं, एक दूसरे से मिलेंगे, प्यार से मिलेंगे। भेंटें शब्द का अर्थ है कि आप उस गंतव्य तक पहुंचें और आपके लिये 2022 का गंतव्य निर्धारित है।

मेरी शुभकामना है कि आप 2022 भेंटें, 2022 तक राज्य के मुख्यमंत्री रहें और कुछ ऐसा करें कि लोग 2022 के बाद भी आपको याद करें। मैं हारा, दो जगह से बुरी तरीके से हारा, सत्यता है। मेरे नेतृत्व में पार्टी हारी, ये भी सत्यता है मगर ये भी सत्यता है कि इस चुनाव में लोगों ने आपके कामों को चुनावी मुद्दा नहीं बनाया बल्कि हरीश रावत सरकार के किये गये काम चुनाव में चर्चा में रहे। तो कुछ तो रहा होगा, आपकी नजर में बुरा रहा होगा मगर कुछ लोगों की नजर में अच्छा भी रहा होगा इसीलिए सत्ता से हटने के ढाई साल बाद भी मेरे द्वारा प्रारंभ की गई पहलें आज भी चर्चा में हैं। और मैंने पहले भी कहा कि मैं ये चुनाव उत्तराखंडियत के झंडे को ऊंचा उठाने के लिये लड़ रहा हूं और इसलिए मैंने उन्हीं सवालों पर फोकस किया जो सवाल उत्तराखंडियत से जुड़े हुए हैं।

मुझे विश्वास है कि लोग उत्तराखंडियत का झंडा बुलंद रहे, उसके लिए वोट करेंगे। हो सकता है मेरे सउर में और क्षमता में कुछ कमी रह जाए मगर उत्तराखंडियत में कोई कमी ना रहे, इसके लिए मैं निरंतर आवाज उठाता रहूंगा, संघर्ष करता रहूंगा और उत्तराखंडियत से जुड़े हुए पहलुओं को आगे बढ़ाता रहूंगा।

हरीश रावत और त्रिवेंद्र के बीच फेसबुक में आरोप-प्रत्यारोप के तीरों ने किसे कितना घायल किया इसे जानने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें-

त्रिवेंद्र का हरीश रावत पर उन्हीं के अंदाज में जबरदस्त पलटवार, कही बड़ी बात

हमारा Youtube  चैनल Subscribe करेंhttp://www.youtub.com/c/UttarakhandPost 

हमें ट्विटर पर फॉलो करेंhttps://twitter.com/uttarakhandpost

हमारा फेसबुक पेज लाइक करें – https://www.facebook.com/Uttrakhandpost/