क्या आप जानते हैं- उत्तराखंड में स्थित इस ‘भूतहा बंगले’ की कहानी ?

चंपावत (उत्तराखंड पोस्ट ब्यूरो) भूत-प्रेत पर बहुत से लोग विश्वास करते हैं जबकि बहुत से लोग इस पर भरोसा नहीं करते हैं लेकिन इन कहानियों में रुचि हर कोई लेता है।

ऐसी ही एक कहानी प्रचलित है उत्तराखंड के चंपावत ज‌िले के लोहाघाट की। कहा जाता है कि लोहाघाट में स्थित एक बंगला, जिसे ऐबी नाम से जाना जाता है,यहां पर कुछ अनहोनी घटनाएं घटित होती रहती हैं, जिसकी वजह से लोग यहां जाने से घबराते हैं।

इस बंगले के बारे में जो कहानी प्रचलित है, उसके अनुसार यह बंगला पहले एक अस्पताल हुआ करता था। अस्पताल के एक च‌िक‌ित्सक कहता था कि वह बता सकता है क‌ि क‌िसकी मृत्यु क‌िस द‌िन और क‌िस समय होगी। यह अस्पताल में आए हर नए व्यक्त‌ि से म‌िलता और उसकी भव‌िष्यवाणी करता था। भव‌िष्यवाणी के अनुसार लोगों की मृत्यु हो जाती थी। लेक‌िन इस भव‌िष्यवाणी के पीछे एक राज भी छुपा था।

दरअसल अस्पताल में एक कमरा बना हुआ था ज‌िसे मुक्त‌ि कोठरी के नाम से जाना जाता था। भव‌िष्यवाणी के अनुसार मृत्यु से कुछ समय पहले मरने वाले को इस कक्ष में पहुंचा द‌िया था जहां व्यक्ति की मृत्यु हो जाती थी।

हालांकि इस पर विश्वास करना बहुत कठिन है कि ऐसा वाकई में हो सकता है। लोगों का कहना है क‌ि भव‌िष्यवाणी करने वाले चिकित्सक को कुछ पता नहीं था। वह व्यक्त‌ि अपनी बात साब‌ित करने के ल‌िए मुक्त‌ि कोठरी में ले जाकर लोगों को खुद ही मार देता था।

मुक्त कोठरी की प्रचलित कहानी की वजह से ही इस बंगले के भुतहा होने की कहानी भी फैल गई और लोग इस बंगले को शापित मानने लगे। इस बात में क‌ितनी सच्चाई यह तो कहा नहीं जा सकता लेकिन लेक‌िन लोग यहां जाने से डरते तो जरुर हैं।

(उत्तराखंडपोस्ट के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैंआप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

मसूरी के इस होटल में कहां से आया भूत, पढ़िए रौंगटे खड़े कर देने वाली कहानी !