पढ़ें- बाजपुर की इस छात्रा ने क्यों लिखा PM मोदी को खत ?

neet-हल्द्वानी में रविवार को नीट-2 की परीक्षा में शामिल होने आई  ऊधम सिंह नगर के बाजपुर की एक छात्रा को परीक्षा में नहीं बैठने दिया गया। छात्रा का आरोप है कि परीक्षा केंद्र में मौजूद कर्मचारियों ने उसे पेपर के वक्त कार्यालय में बैठाकर रखा, जिसकी वजह से वह पेपर नहीं दे पाई। छात्रा ने इस मामले में प्रधानमंत्री मोदी, मुख्यमंत्री हरीश रावत और केद्रीय स्वास्थ्य मंत्री को पत्र लिखकर इंसाफ की गुहार लगाई है। (पढ़ें-‘नीट टू’ का पेपर लीक करने का दावा करने वाले गिरोह के पांच गिरफ्तार)

जानकारी के अनुसार, केशव नगर निवासी राजकीय इंटर कालेज के विज्ञान विषय के प्रवक्ता मोहम्मद इदरीश बेग की पुत्री फरहीन मिर्जा का मेडिकल प्रवेश परीक्षा (नीट-2) का सेंटर डीएवी पब्लिक स्कूल कुसुमखेड़ा हल्द्वानी में था। वह बीते रोज निर्धारित समय से पूर्व परीक्षा केंद्र पर पहुंच गई थी।

छात्रा ने बताया कि परीक्षा केंद्र परिसर में उसका प्रवेश पत्र खो गया। उसने केंद्र पर मौजूद कर्मचारियों से संपर्क कर गेट पर खड़े अपने पिता से बात की। उसने पिता को वैकल्पिक तौर पर दूसरा प्रवेश पत्र मंगाने का अनुरोध किया। छात्रा का आरोप है कि कर्मचारियो ने उसकी एक नहीं सुनी और तीन घंटे तक उसे कार्यालय में ही बैठाकर रखा। जिसके बाद छात्रा ने अब इंसाफ के लिए प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री को शिकायती पत्र भेजकर आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।