क्या है अग्निपथ योजना? कितनी मिलेगी सैलेरी और क्या-क्या मिलेगा?

  1. Home
  2. Dehradun

क्या है अग्निपथ योजना? कितनी मिलेगी सैलेरी और क्या-क्या मिलेगा?

0000

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सेना में भर्ती प्रक्रिया में बड़े बदलाव के लिए 'अग्निपथ भर्ती योजना' की घोषणा कर दी है। आपको बता दें कि अग्निपथ भर्ती योजना के तहत सेना में चार साल के लिए युवाओं को भर्ती कराया जाएगा। इसके साथ ही उन्हें नौकरी से छोड़ते वक्त सेवा निधि पैकेज मिलेगा। इस योजना के तहत सेना में शामिल होने वाले युवाओं को अग्निवीर कहा जाएगा।


 

देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट) रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सेना में भर्ती प्रक्रिया में बड़े बदलाव के लिए 'अग्निपथ भर्ती योजना' की घोषणा कर दी है। आपको बता दें कि अग्निपथ भर्ती योजना के तहत सेना में चार साल के लिए युवाओं को भर्ती कराया जाएगा। इसके साथ ही उन्हें नौकरी से छोड़ते वक्त सेवा निधि पैकेज मिलेगा। इस योजना के तहत सेना में शामिल होने वाले युवाओं को अग्निवीर कहा जाएगा।

चलिए आपको बताते है अग्निपथ योजना की बड़ी बातें-

  • युवाओं को चार साल के लिए सेना में भर्ती कराया जाएगा।
  • इस दौरान अग्निवीरों को आकर्षण वेतन मिलेगा
  • सेना की चार साल की नौकरी के बाद युवाओं को भविष्य के लिए और अवसर दिए जाएंगे।
  • चार साल की नौकरी के बाद सेवा निधि पैकेज मिलेगा।
  • इस योजना के तहत भर्ती किए जाने वाले ज्यादातर जवानों को चार साल बाद मुक्त कर दिया जाएगा। हालांकि, कुछ जवान अपनी नौकरी को जारी रख सकेंगे।
  • 17.5  साल से 21 साल के युवाओं को मौका मिलेगा।
  • ट्रेनिंग 10 हफ्ते से 6 महीने तक होगी।
  • 10/12वीं के छात्र कर सकेंगे आवेदन।
  • 90 दिन अग्निवीरों की पहली भर्ती होगी।
  • अगर कोई अग्निवीर देश सेवा के दौरान शहीद हो जाता है, तो उसके परिजनों को सेवा निधि समेत 1 करोड़ रुपए से ज्यादा की राशि ब्याज समेत मिलेगी। इसके अलावा बाकी बची नौकरी का भी वेतन दिया जाएगा।
  • वहीं, अगर कोई अग्निवीर डिसेबिल हो जाता है, तो उसे 44 लाख रुपए तक की राशि दी जाएगी। इसके अलावा बाकी बची नौकरी का भी वेतन मिलेगा।
  • पूरे देश में मेरिट के आधार पर भर्तियां होंगी। जो लोग इन भर्ती परीक्षा में चयनित होंगे, उन्हें चार साल के लिए नौकरी मिलेगी।

कौन बन सकेगा अग्निवीर?

अग्निपथ स्‍कीम में भर्ती के लिए युवाओं की आयु 17 साल 6 महीने से 21 महीने के बीच होनी जरूरी होगी। युवाओं को ट्रेनिंग पीरियड समेत कुल 4 वर्षों के लिए आर्म्‍ड सर्विसेज़ में सेवा का मौका मिलेगा. भर्ती सेना के तय नियमानुसार ही होगी।

कितनी मिलेगी सैलरी - रक्षा मंत्रालय के मुताबिक, अग्निपथ योजना के तहत युवाओं को पहले साल 4.76 लाख का सालाना पैकेज मिलेगा। चौथी साल तक बढ़कर ये 6.92 लाख तक पहुंच जाएगा। इसके अलावा अन्य रिस्क और हार्डशिप भत्ते भी मिलेंगे। चार साल की नौकरी के बाद युवाओं को 11.7 लाख रुपए की सेवा निधि दी जाएगी। इस पर कोई टैक्स नहीं लगेगा।

सभी अग्निवीरों को ₹ 30,000 प्रति माह और चौथे वर्ष में ₹40,000 प्रति माह तक का आकर्षक मासिक पैकेज प्रदान करेगी। 4 साल पूरे होने पर सभी उम्मीदवारों के लिए एक समग्र वित्तीय पैकेज, 'सेवा निधि' का भी प्रावधान है।

अग्निपथ योजना के फायदे-

  1. देश की सेवा की भावना रखने वाले युवाओं को मौका मिलेगा।
  2. सेना में शॉर्ट और लॉन्ग टर्म नौकरी का मौका मिलेगा।
  3. तीनों सेनाओं में युवाओं की भागीदारी बढ़ेगी।

इस योजना के तहत चार साल के लिए युवाओं (अग्निवीर) को सेना में भर्ती किया जाएगा। हालांकि, चार साल के बाद ज्यादातर जवानों को उनकी सेवा से मुक्त कर दिया जाएगा। चार साल के अंतराल के बाद जिन युवाओं को सेना की नौकरी से मुक्त किया जाएगा, उन्हें दूसरी जगह नौकरी दिलवाने में भी सेना एक सक्रिय भूमिका निभाएगी। सेना में अगर कोई चार साल काम कर लेगा, तो उसकी प्रोफाइल मजबूत बन जाएगी और हर कंपनी ऐसे युवाओं को हायर करने में दिलचस्पी दिखाएंगी। इसके अलावा सेना में 25 फीसदी जवान बने रह पाएंगे जो निपुण और सक्षम होंगे। हालांकि, ये भी तभी संभव रहेगा अगर उस समय सेना में भर्तियां निकलीं हों। इस प्रोजेक्ट की वजह सेना को करोड़ों रुपये की बचत भी हो सकती है। एक तरफ पेंशन कम लोगों को देनी पड़ेगी तो वहीं दूसरी तरफ वेतन में भी बचत हो जाएगी।

ट्रेनिंग के बाद मिलेगा सर्टिफिकेट - राष्ट्र की सेवा की इस अवधि के दौरान, अग्निवीरों को विभिन्न सैन्य कौशल और अनुभव, अनुशासन, शारीरिक फिटनेस, नेतृत्व गुण, साहस और देशप्रेम की ट्रेनिंग प्रदान की जाएगी। चार साल के इस कार्यकाल के बाद, अग्निवीरों को नागरिक समाज में शामिल किया जाएगा जहां वे राष्ट्र निर्माण की प्रक्रिया में योगदान दे सकते हैं। प्रत्येक अग्निवीर द्वारा प्राप्त कौशल को उसके यूनीक बायोडाटा का हिस्सा बनने के लिए एक प्रमाण पत्र दिया जाएगा।