उत्तराखंड में रेमडेसिविर की कालाबाजारी ! इस मेडिकल स्टोर पर पड़ा छापा

कोरोना के बढ़ते कहर के बीच रेमडेसिविर दवा की कमी होने कारण उसकी कालाबाजारी होने लगी है। रेमडेसिविर दवा की किल्लत के बीच इसकी कालाबाजारी की लगातार शिकायत मिल रह है। अब प्रशासन ने शिकायत मिलने पर बड़ी कारवाई करते हुए रेसकोर्स चैक पर रिंकू मेडिकोज छापेमारी की। मामले की जांच के लिए जिलाधिकारी डॉ. आशीष श्रीवास्तव के निर्देश पर एक टीम गठित की है। टीम ने छापेमारी कर जांच शुरू कर दी है।

 
उत्तराखंड में रेमडेसिविर की कालाबाजारी ! इस मेडिकल स्टोर पर पड़ा छापा

देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट) देश में कोरोना वायरस की रफ्तार हर दिन नया रिकॉर्ड बना रही है। एक बार फिर देश में दो लाख से ज्यादा नए कोरोना केस आए हैं। बीते 24 घंटे में पॉजिटिव केसों की संख्या 3 लाख 15 हजार से अधिक पाई गई है।

उत्तराखंड में बुधवार को कोरोना के 4807 मामले सामने आए। इसी के साथ प्रदेश में कुल मरीजों की संख्या 134012 पहुंच गई है। वहीं बुधवार को 34 संक्रमित मरीजों की मौत हुई। बेकाबू हो रहे कोरोना ने मुश्किलें बढ़ा दी हैं। संक्रमण को रोकने के लिए अब तक आठ जिलों में 106 कंटेनमेंट जोन घोषित कर बंदिशें लगाई गई हैं। इनमें सबसे ज्यादा 47 कंटेनमेंट जोन देहरादून जिले में बने हैं।

कोरोना के बढ़ते कहर के बीच रेमडेसिविर दवा की कमी होने कारण उसकी कालाबाजारी होने लगी है। रेमडेसिविर दवा की किल्लत के बीच इसकी कालाबाजारी की लगातार शिकायत मिल रह है। अब प्रशासन ने शिकायत मिलने पर बड़ी कारवाई करते हुए रेसकोर्स चैक पर रिंकू मेडिकोज छापेमारी की। मामले की जांच के लिए जिलाधिकारी डॉ. आशीष श्रीवास्तव के निर्देश पर एक टीम गठित की है। टीम ने छापेमारी कर जांच शुरू कर दी है।

जिलाधिकारी के निर्देश पर एक टीम सिटी मजिस्ट्रेट कुश्म चैहान और दूसरी टीम एसडीएम सदर गोपालराम बिनवाल के नेतृत्व में बनाई गई। सिटी मजिस्ट्रेट की टीम ने मेडिकल स्टोर, जबकि एसडीएम की टीम ने मेडिकोज संचालक के रेसकोर्स स्थित घर पर छापा मारा।

हालांकि, स्टोर व घर से रेमडेसिविर दवा बरामद नहीं की जा सकी। सिटी मजिस्ट्रेट चैहान ने बताया कि दवा कहीं अन्यत्र भी छिपाई जा सकती है। ऐसे में गोपनीय आधार पर उसका भी पता किया जा रहा है। छापेमारी में सीओ सिटी, सीओ नेहरू कॉलोनी समेत स्वास्थ्य विभाग के विभिन्न अधिकारी शामिल रहे।

From around the web