कोरोना | मुश्किल वक्त में देवदूत बनी उत्तराखंड पुलिस, आप भी करेंगे सलाम

कोरोना काल में जहां लोग संक्रमण के डर के चलते एक-दूसरे की मदद करने से हिचकिचा रहे है, तो वहीं उत्तराखंड पुलिस लगातार लोगों की मदद को आगे आ रही है। कोरोना काल में उत्तराखंड पुलिस कोरोना संक्रमण रोकने को तो प्रयास कर ही रही है। साथ ही पुलिस लोगों की मदद भी कर रही है।
 
कोरोना | मुश्किल वक्त में देवदूत बनी उत्तराखंड पुलिस, आप भी करेंगे सलाम

देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट) देशभर में कोरोना का कहर जारी है। पिछले 24 घंटे में एक बार फिर देश में कोरोना का विस्फोट हुआ है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक बीते 24 घंटे में कोरोना के 3,20,435 नए मामले सामने आए हैं। वहीं 2,764 लोगों की कोरोना के चलते मौत हुई है।

वहीं उत्तराखंड में भी कोरोना का कहर लागातार जारी है। बीते 24 घंटों में प्रदेश में कोरोना के 5058 मामले सामने आए। इसी के साथ प्रदेश में कुल मरीजों की संख्या 156859 पहुंच गई है। वहीं 67 संक्रमित मरीजों की मौत हुई।

कोरोना काल में जहां लोग संक्रमण के डर के चलते एक-दूसरे की मदद करने से हिचकिचा रहे है, तो वहीं उत्तराखंड पुलिस लगातार लोगों की मदद को आगे आ रही है। कोरोना काल में उत्तराखंड पुलिस कोरोना संक्रमण रोकने को तो प्रयास कर ही रही है। साथ ही पुलिस लोगों की मदद भी कर रही है। ऐसी एक नही तीन खबरें इस बात की गवाह है।

खबर नंबर एक- रायपुर, देहरादून निवासी व्यक्ति ने थाने पर फोन कर बताया मैं कोरोना पॉजिटिव हूँ। साप्ताहिक बन्दी के कारण रेस्टोरेंट बन्द हैं और उसे खाना डिलीवर नहीं हो पा रहा है। पुलिसकर्मियों ने उसे भरोसा दिलाया और शख्स के उसके घर का पता लिया। इसके बाद पुलिस ने  पुलिस थाने की मैस से पौष्टिक भोजन तैयार कर उसके घर खाना पहुंचाया।


 

खबर नंबर दो – कोरोना काल में कोई बीमार और मृतक लोगों के आस-पास जाना भी नही चाहता। ऐसे में एक महिला की मौत हो गयी। कोरोना के डर से ना तो आसपास कोई व्यक्ति बॉडी पर हाथ लगाने को तैयार था और ना ही अन्य विभागों से कोई मदद मिल सकी। इसके बाद उत्तारखंड पुलिस के SI और कांस्टेबलों ने स्वयं PPE किट पहन कर महिला की बॉडी को अग्रिम कार्यवाही हेतु अस्पताल भिजवाया।


 

खबर नंबर तीन – कोरोना से ग्रसित बुजुर्ग दंपति रोजाना लगने वाली इंसुलिन न मिलने के कारण परेशान थे। ऐसे में देहरादून के थाना राजुपर पुलिस ने मानवीयता का उदाहरण पेश पर उन्हें इंसुलिन इंजेक्शन भिजवाए।

From around the web