NHAI की नई गाइडलाइन, अगर ये हुआ तो टोल पर नही देने होंगे पैसे

क्या आपको पता है कि NHAI ने टोल प्लाजा के लिए नए दिशानिर्देश जारी किए हैं? इस खबर में आप वह बातें जानेंगे नेशनल हाईवे पर सफर के दौरान आपके काम आएंगी।
 
FAStag

देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट) क्या आपको पता है कि NHAI ने टोल प्लाजा के लिए नए दिशानिर्देश जारी किए हैं? इस खबर में आप वह बातें जानेंगे नेशनल हाईवे पर सफर के दौरान आपके काम आएंगी।

NHAI की नई गाइडलाइन के मुताबिक टोल प्लाजा को यह सुनिश्चित करना होगा कि वाहन चालकों को अब 10 सेकेंड से ज्यादा का इंतजार नहीं करना पड़े फिर वह चाहे व्यस्ततम समय ही क्यों ना हो। एनएचएआई ने टोल प्लाजा पर जाम नहीं लगने देने और वाहनों की आवाजाही को सामान्य करने के मकसद से ये निर्देश जारी किए हैं।

NHAI का कहना है कि फास्टैग को अनिवार्य किए जाने के बाद से अधिकतर टोल प्लाजा के ऊपर वेटिंग टाइम नहीं के बराबर है। नई गाइडलाइन में यह भी सुनिश्चित करने को कहा गया है कि किसी भी टोल प्लाजा पर गाड़ियों की लाइन 100 मीटर से अधिक नहीं होनी चाहिए। अगर गाड़ियों की लाइन 100 मीटर से अधिक होती है तो सभी गाड़ियों को बगैर टोल का भुगतान किए जाने की अनुमति होगी।

हालांकि यह टोल पर फ्री में जाने का मौका तभी मिलेगा जब टोल प्लाजा से वाहन की कतार वापस 100 मीटर के भीतर नहीं आ जाती है। एनएचएआई का कहना है कि सभी टोल प्लाजा पर 100 मीटर की दूरी की जानकारी के लिए पीले रंग की लकीर बनाई जाएगी।

NHAI के मुताबिक मौजूदा समय में फास्टैग के जरिए टोल प्लाजा पर करीब 96 फीसदी भुगतान हो रहा है। इलेक्ट्रॉनिक माध्यम के जरिए टोल कलेक्शन को देखते हुए अगले 10 साल में टोल प्लाजा के निर्माण पर जोर दिया जाएगा।

एनएचएआई का कहना है कि फास्टैग का इस्तेमाल बढ़ने की वजह से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन भी आसानी से हो रहा है। दरअसल, इलेक्ट्रॉनिक मोड से टोल कलेक्शन की वजह से टोल संचालक और वाहन चालक एक दूसरे के संपर्क में नहीं आते हैं।

From around the web