उत्तराखंड में मंडरा रहा है ब्लैक फंगस का खतरा, यहां मिला मरीज, 6 में दिखे लक्षण

कोरोना के कहर के बीच देश में कोविड-19 से उत्पन्न ‘म्यूकोरमाइसिस’ यानी ब्‍लैक फंगस का खतरा मंडरा रहा है। इस बीमारी में रोगियों की आंखों की रोशनी जाने और जबड़े व नाक की हड्डी गलने का खतरा रहता है। ये इतनी गंभीर बीमारी है कि इसमें मरीज को सीधे आईसीयू में भर्ती करना पड़ रहा है।

 
उत्तराखंड में मंडरा रहा है ब्लैक फंगस का खतरा, यहां मिला मरीज, 6 में दिखे लक्षण

देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट) भारत में कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। हर रोज लाखों नए केस सामने आ रहे और हजारों लोगों की मौत हो रही है। कोरोना के कहर के बीच देश में कोविड-19 से उत्पन्न ‘म्यूकोरमाइसिस’ यानी ब्‍लैक फंगस का खतरा मंडरा रहा है।

इस बीमारी में रोगियों की आंखों की रोशनी जाने और जबड़े व नाक की हड्डी गलने का खतरा रहता है। ये इतनी गंभीर बीमारी है कि इसमें मरीज को सीधे आईसीयू में भर्ती करना पड़ रहा है।

देश के इन 10 राज्यों में ब्लैक फंगस का कहर, इन लोगों को खतरा ज्यादा

गुजरात के साथ ही महाराष्ट्र, दिल्ली, मध्यप्रदेश, राजस्थान, कर्नाटक, तेलंगाना, यूपी, बिहार और हरियाणा में भी ब्‍लैक फंगस के मरीज सामने आ चुके हैं।

अब बड़ी खबर मिल रही है कि उत्तराखंड में इस बीमारी ने दस्तक दे दी है। देहरादून के मैक्स अस्पताल में ब्लैक फंगस वाले एक मरीज, दून अस्पताल और मैक्स अस्पताल में तीन में बीमारी के लक्षण दिखने की पुष्टि हुई है। प्रभारी स्वास्थ्य सचिव पंकज पाण्डेय ने कहा है कि ब्लैक फंगस की रोकथाम के लिए तकनीकी समिति से सुझाव मांगे है।

From around the web