हरदा ने क्यों कहा ? राज्यपाल का इस्तीफा नहीं लिया गया बल्कि उनकी बलि ली गई!

उत्तराखंड की राज्यपाल बेबी रानी मौर्य के इस्तीफे को लेकर अब प्रदेश में राजनीति गर्मा गई है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने इस मामले में बीजेपी पर तीखा प्रहार करते हुए बड़ा आरोप लगाया है।

 
HARISH



देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट)
उत्तराखंड की राज्यपाल बेबी रानी मौर्य के इस्तीफे को लेकर अब प्रदेश में राजनीति गर्मा गई है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने इस मामले में बीजेपी पर तीखा प्रहार करते हुए बड़ा आरोप लगाया है।

हरीश रावत ने कहा कि फर्जीवाड़ा, भाजपा की नियति बन गई है। आदरणीया पूर्व गवर्नर श्रीमती बेबी रानी मौर्य जी के अचानक इस्तीफे के बाद मुक्त विश्वविद्यालय में भर्तियों में हुआ घोटाला, बहुत चर्चा में आ गया है।

हरदा ने आगे कहा कि शासन में कौन सा जिम्मेदार व्यक्ति है, जिसने यह घोटाला करवाया है ! और जिसके लिए गवर्नर की बलि ली गई है, बड़े खोज का विषय है।

जाहिर है हरीश रावत ने राज्यपाल के इस्तीफे के बहाने राज्य की बीजेपी सरकार पर बड़ा आरोप लगाया है कि राज्यपाल का इस्तीफा नहीं लिया गया बल्कि उनकी बलि ली गई है और इस सबके पीछे मुक्त विश्वविद्यालय में भर्तियों में हुआ घोटाला है। हरदा की इन आरोपों और आशंकाओं में कितना दम और सच्चाई है ये तो वही जानते होंगे लेकिन हरदा की इस फेसबुक पोस्ट के बाद चुनावी साल में प्रदेश की राजनीति गर्माने के पूरे आसार हैं, अब देखना ये होगा कि भारतीय जनता पार्टी का हरदा के इन आरोपों पर क्या जवाब आता है।

From around the web