24 साल की उम्र में अभिनेत्री की मल्टीपल कार्डियक अरेस्ट से मौत, जानिए क्या होते हैं लक्षण

  1. Home
  2. Country

24 साल की उम्र में अभिनेत्री की मल्टीपल कार्डियक अरेस्ट से मौत, जानिए क्या होते हैं लक्षण

Bengali actress Aindrila Sharma

बताया जा रहा है कि 15 नवंबर को एंड्रिला को मल्टीपल कार्डियक अरेस्ट आए जिसके बाद उन्हें सीपीआर भी दिया गया लेकिन इसके बाद उन्हें देर रात एक और कार्डियक अरेस्ट आया जिसके  कारण उनकी जान चली गई।


 

नई दिल्ली (उत्तराखंड पोस्ट) बंगाली फिल्म इंडस्ट्री की एक्ट्रेस एंड्रिला शर्मा की रविवार को कार्डियक अरेस्ट आने की वजह से  मौत हो गई है। एंड्रिला की उम्र मात्र 24 साल थी।

बताया जा रहा है कि 15 नवंबर को एंड्रिला को मल्टीपल कार्डियक अरेस्ट आए जिसके बाद उन्हें सीपीआर भी दिया गया लेकिन इसके बाद उन्हें देर रात एक और कार्डियक अरेस्ट आया जिसके  कारण उनकी जान चली गई।

जानकारी के मुताबिक, एंड्रिला को 1 नवंबर को ब्रेन स्ट्रोक आया था जिसके चलते उन्हें अस्पताल में एडमिट किया गया था। वह कई दिनों से वेंटिलेटर पर थीं। एंड्रिला शर्मा कैंसर सर्वाइवर भी थी। उन्होंने कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी को दो बार मात दी थी।

कार्डियक अरेस्ट क्या है? इसके लक्षण क्या हैं और इससे बचे रहने के लिए कौन से तरीके अपनाए जा सकते हैं?

कार्डियक अरेस्ट एक जानलेवा स्थिति है जिसमें हार्ट अचानक से काम करना बंद कर देता है। यदि हार्ट काम करना बंद कर देता है तो वह खून को पंप नहीं कर पाता और कुछ ही समय में पूरे शरीर पर असर दिखने लगता है।

आपातकालीन स्थिति में कार्डियोपल्मोनरी रिससिटेशन (CPR) और डिफिब्रिलेशन से कार्डियक अरेस्ट में कुछ मदद मिल सकती है। सीपीआर आपके फेफड़ों में पर्याप्त ऑक्सीजन बनाए रखता है। अगर समय पर सीपीआर और डिफाइब्रिलेटर मिल जाता है तो कार्डियक अरेस्ट से जान बचाई जा सकती है।

कार्डियक अरेस्ट के लक्षण

- बेहोशी

- हार्ट रेट तेज होना

- सीने में दर्द

- चक्कर आना

- सांस लेने में कठिनाई

- उल्टी होना

- पेट और सीने में साथ में दर्द होना

अचानक से क्यों आता है कार्डियक अरेस्ट?

कार्डियक अरेस्ट हार्ट अटैक से अलग होता है। हार्ट अटैक में दिल के एक हिस्से में खून पहुंचना बंद हो जाता है जबकि कार्डियक अरेस्ट में दिल अचानक काम करना बंद कर देता है। हार्ट अटैक कभी-कभी इलेक्ट्रिकल सिस्टम में गड़बड़ी को ट्रिगर कर सकता है जिससे अचानक कार्डियक अरेस्ट हो जाता है।

कार्डियक अरेस्ट आने पर सांस लेने में काफी ज्यादा परेशानी होने लगती है और बेहोशी आती है। ऐसा दिल के इलेक्ट्रिकल सिस्टम में गड़बड़ी होने की वजह से होता है। इसकी वजह से हृदय की पंपिंग क्रिया बाधित होती है और शरीर में ब्लड फ्लो रुक जाता है।

किन लोगों को होता है कार्डियक अरेस्ट का सबसे ज्यादा खतरा?

हेल्थ एक्सपर्ट्स के मुताबिक, आमतौर पर इस तरह की घटनाएं 35-40 की उम्र में भी देखने को मिलती है। लेकिन अब कम उम्र के लोगों में भी इस बीमारी का खतरा काफी ज्यादा बढ़ गया है। ऐसे में कार्डियक अरेस्ट के लिए ये कारण होते हैं जिम्मेदार-

  • स्मोकिंग
  • 2.बैड कोलेस्ट्रॉल
  • हाई ब्लड प्रेशर
  • मधुमेह
  • मानसिक और सामाजिक तनाव
  • वर्क आउट नहीं करना
  • ओबेसिटी यानी मोटापा
  • सब्जियां और फल काफी कम खाना
  • शराब का सेवन अधिक मात्रा में करना

Courtesy- aajtak.in

uttarakhand postपर हमसे जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक  करे , साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार ) के अपडेट के लिए हमे गूगल न्यूज़  google newsपर फॉलो करे