AIIMS की नई गाइडलाइन्स जारी, जानिए कोरोना होने पर कैसे देनी है उसे मात

कोरोना वायरस की बढ़ती समस्या के बीच दिल्ली के एम्स द्वारा नई गाइडलाइन्स जारी की गई हैं। युवाओं में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच एम्स ने नई गाइडलाइन्स जारी की है
 
AIIMS की नई गाइडलाइन्स जारी, जानिए कोरोना होने पर कैसे देनी है उसे मात
 

नई दिल्ली (उत्तराखंड पोस्ट) भारत में कोरोना का कहर जारी है। गुरुवार को कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 3.14 लाख के पार कर गया और 24 घंटे में कोरोना ने 2104 मरीजों की जान ले ली।

कोरोना वायरस की बढ़ती समस्या के बीच दिल्ली के एम्स द्वारा नई गाइडलाइन्स जारी की गई हैं। युवाओं में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच एम्स ने नई गाइडलाइन्स जारी की है।

नीचे देखें गाइडलाइंस-

  1. हल्के लक्षण वाले मरीज: एम्स ने बताया है कि अगर किसी व्यक्ति को कोरोना के हल्के लक्षण आते हैं, तो उसे घर में ही आइसोलेट होने की कोशिश करनी चाहिए। इस दौरान लोगों से दूरी बनाए रखे, मास्क, सैनिटाइजर और सफाई का ध्यान रखे, अपने डॉक्टर के संपर्क में रहे। अगर सांस लेने में किसी तरह की परेशानी आती है, तो तुरंत मदद लें।

  1. ज्यादा लक्षण दिखने लगें तो: अगर किसी व्यक्ति की परेशानी बढ़ने लगती है, सांस लेने में काफी परेशानी हो रही है। तो उसे वार्ड में भर्ती हो जाना चाहिए। अधिक परेशानी पर ऑक्सीजन सपोर्ट मिलना जरूरी है। डॉक्टरों द्वारा लगातार उसके सांस लेने पर नज़र रखनी होगी। अगर हालत बिगड़ रही है तो चेस्ट का टेस्ट जरूरी है।

  1. हालात बेकाबू होने लगें तो: अगर किसी की हालत बहुत ज्यादा बिगड़ गई है, तो उसे आईसीयू में भर्ती करें। मरीज की ऑक्सीजन की जरूरत को पूरा किया जाए और उसके हिसाब से ही इलाज किया जाए। मरीज को खून से जुड़ी कोई दिक्कत ना होने दें, ना ही उसपर तनाव बढ़ने दें। हालात बिगड़ने पर तुरंत चेस्ट का टेस्ट करवाएं।

आपको बता दें कि राजधानी दिल्ली में कोरोना का कहर लगातार जारी है। दिल्ली में पिछले 24 घंटे में 306 लोगों ने दम तोड़ दिया जबकि 26 हजार से ज्यादा लोग पॉजिटिव हो गए। दिल्ली में आज 26,169 नए केस सामने आए तो 19,609 मरीज ठीक हुए। दिल्ली में अब कुल 9,56,348 केस दर्ज हो चुके हैं। दिल्ली में 9,56,348 संक्रमित लोगों में से 8,51,537 मरीज ठीक हो चुके हैं तो अब तक कुल 13,193 लोगों की मौत हो गई है। फिलहाल अभी 91,618 एक्टिव केस हैं।

From around the web