Uttrakhandpost 12 banner 1
Utkarshexpress 1234 banner 2

कोरोना पॉजिटिव होने पर डिप्रेशन में आयी महिला डॉक्टर, 14वीं मंजिल से कूदकर कर ली आत्महत्या

कोरोना वायरस महामारी के चलते लोग मानसिक तौर पर भी संतुलन खो दे रहे हैं। कोरोना के खौफ की ऐसी कई खबरें सामने आती है। उत्तराखंड पोस्ट आपसे अपील करता है कि कोरोना घातक है लेकिन उससे घबराना नही है। आप याद रखें कि कोरोना से अभी भी 98 फीसदी लोग ठीक हो रहे हैं। इसलिए कोरोना होने पर एकदम घबराएं नहीं, बल्कि एहतियात का पालन करें।

 
कोरोना पॉजिटिव होने पर डिप्रेशन में आयी महिला डॉक्टर, 14वीं मंजिल से कूदकर कर ली आत्महत्या

नोएड़ा (उत्तराखंड पोस्ट) भारत में कोरोना का कहर तेजी से बढ़ता जा रहा है। कोरोना की दूसरी लहर के बीच हर रोज लाखों नए केस सामन आ रहे है। शुक्रवार को कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 3.46 लाख के पार कर गया और 24 घंटे में कोरोना ने 2624 मरीजों की जान ले ली।

स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, कोरोना के नए मामले सामने आने के बाद देश में कुल संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़र एक करोड़ 66 लाख 10 हजार 481 हो गई है। पिछले 24 घंटे में कारोना वायरस संक्रमण के 3,46,786 नए मामले सामने आए हैं, जबकि 2624 लोगों की मौत हुई है।

कोरोना के कहर के बीच एक सनसनी मचा देने वाली खबर सामने आयी है। कोरोना संक्रमित होने के बाद महिला डॉक्टर ने 14वीं मंजिल से कूदकर अपनी जान दे दी। जानकारी के मुताबिक मामला नोएडा के सेक्टर 137 के पैरामाउंट सोसायटी में टावर नंबर 7 के फ्लैट नंबर 1403 में रहने वाली महिला डॉक्टर और उसके पति की दो दिन पहले कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। बताया गया कि महिला डॉक्टर और उसका पति दोनों घर पर आइसोलेश में थे। लेकिन डिप्रेशन के चलते 30 वर्षीय महिला डॉक्टर ने आत्महत्या कर ली।

आपको बता दें कि कोरोना वायरस महामारी के चलते लोग मानसिक तौर पर भी संतुलन खो दे रहे हैं। कोरोना के खौफ की ऐसी कई खबरें सामने आती है। उत्तराखंड पोस्ट आपसे अपील करता है कि कोरोना घातक है लेकिन उससे घबराना नही है। आप याद रखें कि कोरोना से अभी भी 98 फीसदी लोग ठीक हो रहे हैं। इसलिए कोरोना होने पर एकदम घबराएं नहीं, बल्कि एहतियात का पालन करें।

From around the web