सात फेरों से पहले दुल्हन की मौत से मचा कोहराम, फिर साली से हुई दूल्हे की शादी

शादी समारोह में उस समय कोहराम मच गया जब दुल्हन की मौत हो गई। विवाह की रस्में चल रही थी लेकिन सात फेरों से पहले दुल्हन की ह्रदय गति रुक जाने से उसकी मौत हो गई।
 
0000

इटावा (उत्तराखंड पोस्ट) शादी समारोह में उस समय कोहराम मच गया जब दुल्हन की मौत हो गई। विवाह की रस्में चल रही थी लेकिन सात फेरों से पहले दुल्हन की ह्रदय गति रुक जाने से उसकी मौत हो गई।

हैरान करने वाली ये खबर पड़ोसी राज्य से यूपी से आयी है। यूपी के इटावा से एक ऐसा मामला सामने आया है। 25 मई को भरथना क्षेत्र के समसपुर में एक शादी समारोह चल रहा था।

दुल्हन पक्ष के महेश चंद ने बताया कि मंगलवार 25 मई को उसकी बहन सुरभि का विवाह मंजेश ग्राम नावली चितभवन के साथ धूमधाम से हो रहा था। बारात के आने पर दुल्हन पक्ष ने बारात का स्वागत किया और कार्यक्रम शुरू हुआ। रात करीब साढ़े आठ बजे से द्वारचार के साथ शुरू हुई रस्मों में वरमाला, मांग भराई समेत अन्य कई रस्में पूरी हो चुकी थीं, सात फेरों के लिए दूल्हा-दुल्हन दोनों पक्ष तैयारी में जुटे थे, इसी बीच रात्रि करीब ढाई बजे दुल्हन अचानक बेहोश हो गई, दुल्हन के बेहोश होते ही घर में हड़कंप मच गया।

आनन-फानन में परिजन दुल्हन को गांव स्थित एक निजी डॉक्टर के पास ले गए। डॉक्टर ने जांच पड़ताल कर दुल्हन की ह्रदय गति रूक जाने से उसे मृत घोषित कर दिया। इसके बाद दोनों परिवार की खुशियां मातम में बदल गईं।

शादी समारोह में मौजूद रिश्तेदारों और दूल्हा पक्ष के लोगों की आपसी सहमति पर मृतका की छोटी बहन को दुल्हन बनाया गया और दूल्हे के साथ उसकी शादी की गई। हालांकि इस दौरान मृतक दुल्हन का शव घर के एक कमरे में रखा गया। विदाई के बाद अन्तिम संस्कार कराया गया।

From around the web