बड़ी खबर | नक्सलियों ने 6 दिन बाद अगवा जवान राकेश्वर सिंह को छोड़ा, पत्नी ने कही ये बात

शनिवार को तर्रेम क्षेत्र में मुठभेड़ के बाद बंधक बनाए गए कोबरा कमांडो राकेश्वर सिंह को नक्सलियों ने रिहा कर दिया है। दोपहर बाद करीब 4 बजे नक्सलियों ने कमांडो को छोड़ दिया।  पति की रिहाई पर जवान की पत्नी ने सरकार को धन्यवाद कहा है। बताया गया है कि राकेश्वर सिंह जंगल के रास्ते वापस लौटे हैं। उनके वापस आने पर उन्हें सीआरपीएफ कैंप ले जाया गया।
 
बड़ी खबर | नक्सलियों ने 6 दिन बाद अगवा जवान राकेश्वर सिंह को छोड़ा, पत्नी ने कही ये बात

रायपुर (उत्तराखंड पोस्ट) शनिवार को तर्रेम क्षेत्र में मुठभेड़ के बाद बंधक बनाए गए कोबरा कमांडो राकेश्वर सिंह को नक्सलियों ने रिहा कर दिया है। दोपहर बाद करीब 4 बजे नक्सलियों ने कमांडो को छोड़ दिया।  पति की रिहाई पर जवान की पत्नी ने सरकार को धन्यवाद कहा है। बताया गया है कि राकेश्वर सिंह जंगल के रास्ते वापस लौटे हैं। उनके वापस आने पर उन्हें बीजापुर सीआरपीएफ कैंप ले जाया गया।

सरकार द्वारा गठित दो सदस्यीय मध्यस्ता टीम के सदस्य पद्मश्री धर्मपाल सैनी,गोंडवाना समाज के अध्यक्ष तेलम बोरैया समेत सैकड़ो ग्रामीणों की मौजूदगी में नक्सलियों ने जवान को किया रिहा। फिलहाल ये जानकारी नहीं मिल पाई है कि इसके बदले सरकार ने उनकी कोई मांग पूरी की है या नहीं। जवान की रिहाई के लिए मध्यस्ता कराने गयी दो सदस्यीय टीम के साथ बस्तर के 7 पत्रकारों की टीम भी मौजूद थी। नक्सलियों के बुलावे पर जवान को रिहा कराने कुल 11 सदस्यीय टीम बस्तर के बीहड़ में वार्ता दल समेत पहुंची थी।

बेटे की रिहाई पर राकेश्वर सिंह मन्हास की मां कुंती देवी ने कहा कि हम बहुत ज्यादा खुश हैं। जो हमारे बेटे को छोड़ रहे हैं उनका भी धन्यवाद करती हूं। भगवान का भी धन्यवाद करती हूं। जब सरकार की बात हो रही थी तो मुझे थोड़ा भरोसा तो था परन्तु विश्वास नहीं हो रहा था। 

आपको बता दे कि शनिवार को बीजापुर के तर्रेम क्षेत्र में नक्सलियों ने पुलिस पर घात लगा कर हमला किया था जिसमे 23 जवान शहीद हुए थे। इस हमले में दो दर्जन से ज्यादा जवान गंभीर रूप से घायल भी हुए थे। नक्सलियों ने इसी दौरान राकेश्वर सिंह को बंधक बना लिया था।

From around the web