हाईकोर्ट की केंद्र को फटकार- उधार लीजिए या चुराइए, लेकिन अस्तपालों में ऑक्सीजन लाइए

कोरोना के बढ़ते कहर के बीच अस्पतालों में बेड्स की कमी के साथ-साथ ऑक्सीजन की भी किल्लत बड़ी मुसीबत बनी हुई है। बुधवार को मैक्स अस्पताल ऑक्सीजन की किल्लत की शिकायत लेकर हाईकोर्ट पहुंचा, जिसके बाद हाईकोर्ट ने केंद्र सरकार को जमकर फटकार लगाई है।
 
हाईकोर्ट की केंद्र को फटकार- उधार लीजिए या चुराइए, लेकिन अस्तपालों में ऑक्सीजन लाइए

नई दिल्ली (उत्तराखंड पोस्ट) देश में कोरोना वायरस की रफ्तार हर दिन नया रिकॉर्ड बना रही है। एक बार फिर देश में दो लाख से ज्यादा नए कोरोना केस आए हैं। बीते 24 घंटे में पॉजिटिव केसों की संख्या 3 लाख 15 हजार से अधिक पाई गई है।

स्वास्‍थ्‍य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक बुधवार को देश में कोरोना के 3 लाख 15 हजार 728 नए मामले दर्ज किए गए और 2102 मरीजों की मौत हो गई। भारत में कोविड-19 के कुल मामलों की संख्‍या 1,59,24,806 हो चुकी है। अबतक कुल 1,84,684 लोगों की जान गई है। इसके अलावा अबतक कुल 1,34,49,406 कोविड-19 को मात दे चुके हैं।

कोरोना के बढ़ते कहर के बीच अस्पतालों में बेड्स की कमी के साथ-साथ ऑक्सीजन की भी किल्लत बड़ी मुसीबत बनी हुई है। बुधवार को मैक्स अस्पताल ऑक्सीजन की किल्लत की शिकायत लेकर हाईकोर्ट पहुंचा, जिसके बाद हाईकोर्ट ने केंद्र सरकार को जमकर फटकार लगाई है। दिल्ली हाईकोर्ट ने इस मामले की सुनवाई करते हुए कहा कि अस्पतालों में ऑक्सीजन मुहैया कराना केंद्र की जिम्मेदारी है, ऐसे में सरकार कैसे इतनी लापरवाह हो सकती है? गिड़गिड़ाइए, उधार लीजिए या फिर चुराइए लेकिन अस्पतालों में ऑक्सीजन लेकर आइए, हम मरीजों को मरता हुआ नहीं देख सकते हैं।

दिल्ली हाईकोर्ट ने केंद्र सरकार सभी अस्पतालों को ऑक्सीजन मुहैया कराने का निर्देश दिया है। साथ ही जरूरत पड़ने पर इंडस्ट्री की सप्लाई रोकने की भी बात कही है। अदालत ने कहा है कि अभी बात लोगों की जान की है, हर रोज इतने लोग मर रहे हैं। ऑक्सीजन की कमी के बीच बीते दिन ही केंद्र सरकार ने दिल्ली का कोटा बढ़ाने का फैसला लिया है। दिल्ली को अब 480 मीट्रिक टन ऑक्सीजन सप्लाई की जाएगी। कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच दिल्ली में ऑक्सीजन की खपत 600 फीसदी तक बढ़ गई है।

From around the web