कोरोना ने बढ़ाई चिंता, नाइट कर्फ्यू के बाद यहां सभी शिक्षण संस्थान भी बंद

देशभर में कोरोना की लहर अपना प्रकोप दिखा रही है। कोरोना के घातक रूप को देखते हुए कई राज्यों में लॉकडाउन और नाइट कर्फ्यू का सहारा लिया जा रहा है। इस बीच पंजाब सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। पंजाब सरकार ने रैलियों पर रोक लगा दी है, सरकार के आदेशों के बाद राज्य में कोई भी राजनीतिक दल रैलियों का आयोजन नहीं कर पाएगा।
 
कोरोना ने बढ़ाई चिंता, नाइट कर्फ्यू के बाद यहां सभी शिक्षण संस्थान भी बंद

चंडीगढ़ (उत्तराखंड पोस्ट) देशभर में कोरोना की लहर अपना प्रकोप दिखा रही है। कोरोना के घातक रूप को देखते हुए कई राज्यों में लॉकडाउन और नाइट कर्फ्यू का सहारा लिया जा रहा है। इस बीच पंजाब सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। पंजाब सरकार ने रैलियों पर रोक लगा दी है, सरकार के आदेशों के बाद राज्य में कोई भी राजनीतिक दल रैलियों का आयोजन नहीं कर पाएगा।

इसके साथ ही सरकार ने 30 अप्रैल तक सभी शिक्षण संस्थानों को बंद करने का भी निर्णय लिया है। 11 जिलों में नाइट कर्फ्यू की मियाद को भी सरकार ने 30 अप्रैल तक बढ़ा दिया है। बता दें कि पंजाब में पिछले 24 घंटों में कोरोना संक्रमण के 2924 नए मामले दर्ज किए गए हैं। अब राज्य में कोरोना के कुल मामलों की संख्या दो लाख 57 हजार 57 हो गई है।

इसके अलावा सरकार ने आदेश दिया है कि मॉल में एक वक्त में 100 से अधिक व्यक्तियों को इजाजत नहीं होनी चाहिए और सिनेमाघरों को आधी सीटें खाली रखने को कहा गया है। सबसे अधिक प्रभावित 11 जिलों में अंतिम संस्कार एवं शादियों को छोड़कर सभी सामाजिक जमावड़े पर पूर्ण पाबंदी लगायी गयी है। अंतिम संस्कार एवं शादियों में भी 20 लोगों को ही इजाजत है।

From around the web