कोरोना का नया लक्षण बना पहेली, ऐसा हो तो तुरंत कराएं कोविड जांच

देशभर में कोरोना का कहर जारी है। पिछले 24 घंटे में एक बार फिर देश में कोरोना का विस्फोट हुआ है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक बीते 24 घंटे में कोरोना के 3,20,435 नए मामले सामने आए हैं। वहीं 2,764 लोगों की कोरोना के चलते मौत हुई है।
 
कोरोना का नया लक्षण बना पहेली, ऐसा हो तो तुरंत कराएं कोविड जांच

नई दिल्ली (उत्तराखंड पोस्ट) देशभर में कोरोना का कहर जारी है। पिछले 24 घंटे में एक बार फिर देश में कोरोना का विस्फोट हुआ है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक बीते 24 घंटे में कोरोना के 3,20,435 नए मामले सामने आए हैं। वहीं 2,764 लोगों की कोरोना के चलते मौत हुई है।

वहीं उत्तराखंड में भी कोरोना का कहर लागातार जारी है। बीते 24 घंटों में प्रदेश में कोरोना के 5058 मामले सामने आए। इसी के साथ प्रदेश में कुल मरीजों की संख्या 156859 पहुंच गई है। वहीं 67 संक्रमित मरीजों की मौत हुई।

इस बीच नई रिपोर्ट में कोरोना के नए लक्षण सामने आने से हड़कंप मच गया है। रिपोर्ट के मुताबिक, कोरोना संक्रमण होने पर मरीज की प्लेटलेट्स अचानक से गिर जाती हैं और उसे बहुत ज्यादा थकावट महसूस होने लगती है। जबकि बुखार और सांस में तकलीफ जैसे लक्षण बाद में उभरते हैं। इन शुरुआती लक्षणों को इग्नोर करना घातक साबित हो सकता है।

टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के मुताबिक, आजाद नगर पारा रोड के अलीम शेख (60) ने 18 अप्रैल को बहुत ज्यादा थकावट महसूस होने के बाद एक ब्लड टेस्ट करवाया। उन्होंने ये ब्लड टेस्ट डॉक्टर की सलाह पर करवाया था जिसमें पता चला कि उनके शरीर की प्लेटलेट्स अचानक गिरकर 85,000 रह गई हैं। अलीम शेख ने डॉक्टर के कहने पर दवाइयां लेना शुरू कर दिया, लेकिन 23 अप्रैल को उन्हें अचानक सांस की भयंकर तकलीफ होने लगी। इसके बाद उनका एक और ब्लड टेस्ट हुआ जिसमें पता लगा कि उनके शरीर की प्लेटलेट्स अब घटकर सिर्फ 20,000 ही रह गई हैं।

मरीज की हालत बिगड़ती देख परिवार के सदस्यों ने उन्हें भर्ती कराने के लिए कई अस्पतालों के चक्कर काटे, लेकिन सभी ने ये कहकर इनकार कर दिया कि उनके पास ऑक्सीज सपोर्टेड बेड नहीं हैं। अलीम की भतीजी सना ने बताया कि इलाज मिलने के इंतजार में ही उन्होंने दम तोड़ दिया।

रेस्पिरेटरी मेडिसिन डिपार्टमेंट KGMU के प्रोफेसर संतोष कुमार कहते हैं, 'हर एक वायरल इंफेक्शन में प्लेटलेट काउंट गिरता है। इसलिए थकान को इग्नोर किए बिना कोविड-19 का टेस्ट कराना चाहिए। कोविड-19 के लक्षण इन्फ्लूएंजा जैसे ही होते हैं, लेकिन अब डायरिया, आंखों में लालपन, चकत्ते और थकावट जैसे कई नए लक्षण भी सामने आए हैं। शरीर में ये लक्षण दिखते ही लोगों को कोविड-19 की जांच करानी चाहिए।'

RML इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंज के डॉ. विक्रम सिंह कहते हैं, 'थकान या अस्वस्थता वायरल बुखार के लक्षण हैं। कोविड भी एक तरह का वायरल है जिसमें लोगों को बुखार के साथ ये दोनों महसूस होते हैंषसामान्य तौर पर एक इंसान का प्लेटलेट काउंट 1.5 से 4.5 लाख ब्लड प्रतिलीटर होता है। लेकिन कई मामलों में ये 75,000 से 85,000 प्रति लीटर तक चला जाता है। कई बार डेंगू या किसी अन्य बीमारी में मरीज की गलती से भी प्लेटलेट काउंट गिर जाता है। हमारी सलाह है कि यदि कोई व्यक्ति थकावट या अस्वस्थ महसूस करे तो वो तुरंत कोविड-19 का टेस्ट कराए।'

From around the web