Uttrakhandpost 12 banner 1
Utkarshexpress 1234 banner 2

उत्तराखंड | बेटे की बरात रवाना होते वक्त अचानक हुई मां की मौत, परिजनों में मचा कोहराम

उत्तराखंड के बागेश्वर से दिल दहला देने वाली खबर सामने आयी है। यहां एक शादी के घर में उस वक्त मातम पसर गया जब बरात रवाना होने की रस्मों के दौरान दूल्हे की मां की मौत हो गयी।

 
उत्तराखंड | बेटे की बरात रवाना होते वक्त अचानक हुई मां की मौत, परिजनों में मचा कोहराम

बागेश्वर (उत्तराखंड पोस्ट) उत्तराखंड के बागेश्वर से दिल दहला देने वाली खबर सामने आयी है। यहां एक शादी के घर में उस वक्त मातम पसर गया जब बरात रवाना होने की रस्मों के दौरान दूल्हे की मां की मौत हो गयी।

जानकारी के मुताबिक बागेश्वर में कपकोट नगर पंचायत के बमसेरा में बृहस्पतिवार को भराड़ी वार्ड के बमसेरा निवासी बाला राम घटियाल के बड़े पुत्र डॉ. बृजेश की बरात बेरीनाग जानी थी। बरात की रवानगी से पूर्व दूल्हे को अक्षत परखने की रस्म निभाई जा रही थी। मां आशा देवी अक्षत परखते हुए दूल्हे के गले लगी और अचानक नीचे गिर गई।

दूल्हे ने मां की नब्ज देखी तो वह धीमी पड़ गई थी। उन्हें तत्काल कपकोट सीएचसी पहुंचाया गया। डॉक्टर ने जांच के बाद उन्हें मृत घोषित कर दिया। बरात का हंसी-खुशी का माहौल पलभर में मातम में बदल गया।

मृतका आशा देवी राइंका कपकोट में शिक्षिका  थीं। कई दिनों से घर में बरात की तैयारी चल रही थी। घर के बड़े पुत्र की शादी से परिवार बेहद खुश था। आशा देवी की खुशियां भी सातवें आसमान पर थीं।

बरात के एक दिन पहले महिला संगीत, मेहंदी की रस्म संपन्न कराई बृहस्पतिवार को सुबह से बरात की तैयारी चल रही थी। दूल्हे को तैयार करने के बाद बरात दुल्हन के घर को रवाना करने का कार्यक्रम चल रहा था। करीब 11 बजे बरात को रवाना होना था। लेकिन इस घटना ने हर किसी झकझोर दिया।

मृतका आशा देवी के बेहोश होने के बाद उनके डॉ. पुत्र और फार्मासिस्ट पति ने उन्हें बचाने का भरसक प्रयास किया। उनकी गंभीर हालत को देखते हुए तत्काल अस्पताल भी पहुंचाया गया लेकिन हर कोशिश बेकार चली गई। 

From around the web