उत्तराखंड | हाथियों के आतंक से ग्रामीणों में दहशत, वन विभाग पर लापरवाही का आरोप

हरिद्वार के ग्रामीण क्षेत्र लालढांग के कैटबर्ड में इन दिनों हाथियों ने उत्पात मचाया हुआ है। 10 दिन से गांव में हाथी उत्पात मचा रहे है और ग्रामीणों का आरोप है कि शिकायत के बाद भी वन विभाग के अधिकारी उनकी समस्याएं नहीं सुन रहे है।
 
0000

हरिद्वार (उत्तराखंड पोस्ट) हरिद्वार के ग्रामीण क्षेत्र लालढांग के कैटबर्ड में इन दिनों हाथियों ने उत्पात मचाया हुआ है। 10 दिन से गांव में हाथी उत्पात मचा रहे है और ग्रामीणों का आरोप है कि शिकायत के बाद भी वन विभाग के अधिकारी उनकी समस्याएं नहीं सुन रहे है।

खेतों में हाथियों के आने की सूचना वन विभाग को मिलने के बाद वन विभाग के कर्मचारियों के देरी से आने पर ग्रामीण भड़क गए। जिसको लेकर ग्रामीणों और वन कर्मचारियों के बीच काफी कहासुनी हुई।

ग्रामीणों का आरोप है कि जिस वक्त हाथी खेतों में उत्पात मचा रहे थे तभी वन विभाग को हाथियों के आने की सूचना दे दी गई थी सूचना के 02 घंटे बाद भी वन विभाग की टीम मौके पर नहीं पहुंची, जिसके चलते हाथी खेतों में तबाही मचा कर चले गए।

उत्तराखंड पोस्ट से संपर्क करते हुए एक ग्रामीण पंकज सैनी ने बताया कि लालढाग क्षेत्र केटबड में उसके घर के पास ठीक 8:00 बजे मैंने वन विभाग की टीम को कॉल किया कोई अधिकारी मौके पर नहीं आया फिर मैंने रेंज अधिकारी को कॉल किया रेंज अधिकारी के कहने के बाद 10:00 बजे वन विभाग अधिकारी के मौके पर पहुंचे।

ग्रामीण पंकज सैनी ने बताया कि मैं वन विभाग अधिकारियों को 10 दिन से बोल रहा हूं कि बीते 10 दिन से लगातार मेरे गांव में हाथी उत्पात मचा रहे है लेकिन कोई अधिकारी आकर के नहीं देखता। रात को 8:00 बजे घर पर हाथी ने हमला किया। मैंने रेंज ऑफिसर को कॉल किया, फोन करने के बावजूद भी कोई अधिकारी मौके पर नहीं पहुंचा। इसके बाद मैंने गांव वासियों को इसकी सूचना दी, फिर गांव के सभी लोग इकट्ठा होकर आए दो ट्रैक्टर मौके पर आए और हाथी को भगाया। ग्रामीण का आरोप का है कि सूचना देने के बाद भी वन विभाग के अधिकारी देर से पहुंचे और जब उन्होंने इसका विरोध किया तो रेंजर द्वारा उसे धमकी दी गई।

From around the web