उत्तराखंड | दो पक्ष आपस में भिड़े, पुलिस पर भी किया वार, भारी पुलिस बल तैनात

हरिद्वार से एक सनसनीखेज खबर सामने आयी है। मंगलौर कोतवाली क्षेत्र से सामने आया है जहां दो पक्षों के लोग आपस में भिड़ गए। इतना ही नही मामला सुलझाने पहुंची पुलिस पर भी ग्रामीणों ने वार किया जिसके बाद पुलिस को लाठीचार्ज तक करना पड़ा।
 
0000
 

हरिद्वार (उत्तराखंड पोस्ट) हरिद्वार से एक सनसनीखेज खबर सामने आयी है। मंगलौर कोतवाली क्षेत्र से सामने आया है जहां दो पक्षों के लोग आपस में भिड़ गए। इतना ही नही मामला सुलझाने पहुंची पुलिस पर भी ग्रामीणों ने वार किया जिसके बाद पुलिस को लाठीचार्ज तक करना पड़ा।

दरअसल पूरा विवाद मंदिर बनाये जाने को लेकर हुआ है। दोनों पक्षों के बीच जमकर लाठी-डंडे और ईंट पत्थर चले। कई लोग और पुलिसकर्मी इस में घायल हुए। मंगलौंर कोतवाली क्षेत्र के कुमराडा गांव में सरकारी भूमि पर धार्मिक स्थल की स्थापना को लेकर विवाद उत्पन्न हो गया। मौके पर पहुँची पुलिस टीम को भी ग्रामीणों का विरोध झेलना पड़ा। इस दौरान कुछ ग्रामीणों ने पुलिस पर पथराव कर दिया जिसमे कई पुलिसकर्मी घायल हो गए। हंगामा बढ़ता देख पुलिस ने लाठियां भांजकर भीड़ को तीतर भितर किया। सूचना पर रुड़की ए,एसड़ीएम पूरण सिंह राणा व सीओ मंगलौर पंकज गैरोला मौके पर पहुंचे है। मौके पर भारी पुलिस बल तैनात किया गया है।

जानकारी के मुताबिक़ मंगलौर के कुमराडा गांव में सरकारी भूमि पर धार्मिक स्थल की स्थापना की गई थी। सरकारी भूमि को मुक्त करवाने के लिए प्रशासन व पुलिस की टीम कुमराडा गाँव पहुंची. प्रशासन और पुलिस द्वारा धार्मिक दौरान जमकर पथराव भी हुआ। पुलिस पर भी आक्रोशित भीड़ ने पथराव कर दिया। जिससे मौके पर अफरा-तफरी का माहौल पैदा हो गया। इस दौरान कई लोग और पुलिसकर्मी चोटिल हो गए। पथराव में कोतवाली प्रभारी निरीक्षक को भी चोटें आई है। पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए जमकर लाठी भांजी। मौके पर अभी भी तनाव की स्थिति बनी हुई है। अभी भी मौके पर काफी संख्या में ग्रामीण और महिलाएं मौजूद हैं। गांव में एहतियात के तौर पर अतिरिक्त पुलिस बल की तैनाती की गई है। मोके पर रुड़की एएसड़ीएम पूरण सिंह राणा व सीओ मंगलौर पंकज गैरोला पहुंचे है।

From around the web