CM धामी ने बताया सच- शपथ ग्रहण के लिए नही थे कपड़े

धामी ने कहा कि त्रिवेंद्र सिंह रावत के बाद मुख्यमंत्री की जिम्मेदारी पार्टी ने तीरथ सिंह रावत को सौंपी थी। उनके नाम की भी चर्चा थी। वह देहरादून से अपना सामान लेकर खटीमा लौट आए। तब उन्होंने मन बनाया था कि अब 2022 में ही देहरादून जाएंगे लेकिन बाद में उन्हें बड़ी जिम्मेदारी मिल गई।
 
Dhami

नैनीताल (उत्तराखंड पोस्ट) मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी अपने दो दिवसीय नैनीताल दौरे पर है। इस दौरान सीएम धामी ने भाजपा कार्यकर्ताओं के सामने अपने मन की बात कह दी। धामी ने कहा कि त्रिवेंद्र सिंह रावत के बाद मुख्यमंत्री की जिम्मेदारी पार्टी ने तीरथ सिंह रावत को सौंपी थी। उनके नाम की भी चर्चा थी। वह देहरादून से अपना सामान लेकर खटीमा लौट आए। तब उन्होंने मन बनाया था कि अब 2022 में ही देहरादून जाएंगे लेकिन बाद में उन्हें बड़ी जिम्मेदारी मिल गई।

सीएम ने यह भी कहा कि शपथ ग्रहण समारोह के दिन उनके पास कपड़े नहीं थे। उसी समय एक धोती मंगाई गई। सीएम ने कार्यकर्ताओं को सपने देखने और उन्हें पूरा करने के लिए जुट जाने का मंत्र दिया। उन्होंने कहा कि जिस दिन फ्रेम में फिट हो जाओगे, उस दिन पार्टी के शीर्ष पर नजर आओगे। जब वह युवा मोर्चा के अध्यक्ष थे तभी उन्हें लगा कि कभी न कभी तो पार्टी की ओर से शीर्ष पद मिलेगा।

इस दौरान मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि भाजपा अपने सभी पदाधिकारियों पर नजर रखती है। लगन और कार्यों के चलते उन्हें जिम्मेदारियां सौंपी जाती हैं।  पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि तीरथ सिंह रावत के इस्तीफे के बाद जब सभी विधायकों को देहरादून बुलाया गया तो वह सिर्फ एक जोड़ी कपड़े लेकर पहुंचे थे। उनका नाम मुख्यमंत्री पद के लिए सामने आया।

सीएम के शपथ ग्रहण समारोह में उन्होंने अपने एक कार्यकर्ता को बाजार भेजा और धोती मंगाई और नई धोती पहनकर शपथ ली। आज उनके पास 15 धोतियां हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि पार्टी हमारी मां है और हमारी पहचान भारतीय जनता पार्टी से है। पार्टी के बदौलत ही मुख्य सेवक के रूप में उन्हें कार्य करने का मौका मिला है।

From around the web