उत्तराखंड | सिलेंडर फटने से पिता और 2 साल के बेटे की मौत, मां घायल

उत्तराखंड से उधमसिंह नगर के रुद्रपुर स्थित ट्रांजिट कैम्प में देर रात एक दर्दनाक हादसा हो गया। यहां सिलेंडर फटने से पिता-पुत्र की मौत हो गई। मृतक मजदूरी करता था। हादसे के बाद से मृतक की पत्नी सदमे में चले गई।
 
1232



रुद्रपुर (उत्तराखंड पोस्ट)
उत्तराखंड से उधमसिंह नगर के रुद्रपुर स्थित ट्रांजिट कैम्प में देर रात एक दर्दनाक हादसा हो गया। यहां सिलेंडर फटने से पिता-पुत्र की मौत हो गई। मृतक मजदूरी करता था। हादसे के बाद से मृतक की पत्नी सदमे में चले गई।

घटना से मोहल्ले में हड़कंप है। लोगों का कहना है कि कल ही वह गैस सिलेंडर लाया था। वह सिलेंडर में पाइप जोड़ रहा था। इस दौरान आग की चपेट में आ गया। साथ ही पास में सो रहा उसका बेटा वंश भी आग की चपेट में आ गया। इससे दोनों पिता पुत्र की मौत हो गई।

बताया गया कि ट्रांजिट कैम्प, ठाकुरनगर निवासी 30 साल का केदार सिंह अपनी पत्नी और 2 साल के पुत्र के साथ रहता था। वह मेहनत मजदूरी कर परिवार का भरण पोषण कर रहा था। सोमवार रात 10 बजे के आसपास केदार की पत्नी घर में खाना बना रही थी। केदार और वंश घर के भीतर ही थे। केदार की पत्नी घर के बाहर किसी काम से गई। बताया जा रहा है कि इसी दौरान घर के भीतर अचानक गैस सिलेंडर फट गया। इससे घर के भीतर मौजूद केदार और वंश गंभीर रूप से झुलस गए। घर में आग लगी देख बाहर मौजूद केदार की पत्नी के होश उड़ गए। शोर होने पर आसपास के लोग एकत्र हुए और पुलिस को सूचना दी।

सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची। झुलसे केदार और वंश को एम्बुलेंस 108 से जिला अस्पताल पहुंचाया। जहां डॉक्टर ने दोनों को मृत घोषित कर दिया। पुलिस का कहना है कि रात को खाना बनाते समय वह सिलेंडर बदल रहा था। इसी बीच हादसा हो गया। जिससे केदार व उसके पुत्र वंश की मौत हो गई। घटना के बाद उसकी पत्नी भी बदहवास है।

बताया जा रहा है कि केदार मूलरूप से जगदीशपुर, थाना जहानाबाद, पीलीभीत का रहने वाला था। 4-5 माह पहले ही पत्नी व बच्चे को ट्रांजिट कैम्प लाया था। केदार सिडकुल की एक कंपनी में काम करता था। सूचना पर दमकल कर्मी भी मौके पर पहुंचे और करीब आधे घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया।

From around the web